बिहार की राजधानी पटना के मीठापुर फ्लाईओवर को लेकर आ गई बड़ी खबर, जानिये कब से शुरू होगी यातायात

बिहार की राजधानी पटना में फ्लाई ओवर और एलिवेटेड रोड को लेकर यह बहुत ही अच्छी खबर है। आर ब्‍लाक से दीघा के बीच बने अटल पथ, दीघा से खगौल के बीच बने एलिवेटेड फ्लाई ओवर के बाद अब मीठापुर फ्लाईओवर का निर्माण जल्‍द पूरा होने की उम्‍मीद बढ़ गई है। लंबे अरसे से लटकी इस योजना का निर्माण जल्द पूरा हो सकेगा। इसके निर्माण की बाधा दूर हो गई है। दरअसल, नागर विमानन मंत्रालय (रेल संरक्षा आयोग) द्वारा पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य अभियंता को पत्र लिख कर करबिगहिया फ्लाईओवर के मीठापुर आर्म का कार्य संबंधी नक्शा पर सहमति दे दी है। यह निर्माण कार्य पटना-गया रेल मार्ग के ऊपर किया जाना है।

यह भी पढ़ें  पटना के IGIMS में गंभीर बीमारियों का भी होगा अब मुफ्त इलाज, नीतीश कुमार ने कर ली पूरी तैयारी

पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन का कहना है की निर्माण के संबंध में सभी सुरक्षात्‍मक पहलु पर विशेष ध्‍यान देने का निदेश है. इसके साथ ही निर्माण के समय यह ध्यान में रखा जाएगा कि ट्रेन के परिचालन में बाधा उत्‍पन्‍न न हो. सभी गार्डर का निर्माण रेलवे के मार्गदर्शिका के अनुरूप ही किया जाना है. पुल पर क्रैश बैरियर के निर्माण का भी सूझाव दिया गया है.

ट्रेन के परिचालन में नहीं होगी बाधा : पथ निर्माण मंत्री नितीन नवीन ने बताया कि मंत्रालय के पत्र के जरिये निर्माण के संबंध में सभी सुरक्षात्मक पहलू पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है और कहा है कि निर्माण के समय ट्रेन के परिचालन में बाधा नहीं उत्पन्न न हो। सभी गर्डर का निर्माण रेलवे के मार्गदर्शिका के अनुरूप होगा। पुल पर क्रैश बैरियर के निर्माण का भी सूझाव दिया गया है। अब कई वर्षों से लंबित परियोजना अब शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : बिहार की इस ट्रेन में मिलने लगी बेडरोल सुविधा, AC बोगी में बेडशीट, कंबल, तकिये की नहीं होगी दिक्कत

बताया जा रहा है की इससे कंकडबाग से आने या जाने वाले यात्री सीधे गर्दनीबाग, अनिसाबाद और खगौल जा सकेंगे। इस आर्म पर परिचालन से बेली रोड पर ट्रैफिक भार कम होगा। पथ निर्माण मंत्री ने इस संबंध में इरकान और रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक किया, जिसमें निर्माण एजेंसी इरकान ने विश्वास दिलाया कि 15 जनवरी से इसका कार्य आरंभ हो जाएगा और मई तक यह मीठापुर आर्म जनता को समर्पित कर देंगे। आपको बता दें कि शहर में फ्लाईओवर की सबसे पुरानी योजनाओं में यह शामिल है, बावजूद तकनीकी दिक्‍कतों के कारण इसका निर्माण आज तक पूरा नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें  बिहार रूट की इन 30 ट्रेनों में रेलवे ने किया ये बड़ा बदलाव, जाने पूरा Time Table