पटना में गंगा पर चौथे पुल सहित बिहार में कई नए हाइवे रूट को केंद्र की मंजूरी, नितिन गडकरी ने जताई सहमति

बिहार की राजधानी पटना और सोनपुर के बीच जेपी सेतु के समानांतर नए फोर लेन पुल के निर्माण पर केंद्र सहमत हो गया है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इसके अलावा भी कई योजनाओं पर सहमति दी है। पटना में दीघा से सारण और वैशाली जिले की सीमा पर सोनपुर के बीच जेपी सेतु के समानांतर नए फोर लेन पुल के निर्माण पर केंद्र सहमत हो गया है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी व राज्य मंत्री बीके सिंह से मंगलवार को बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने दिल्ली में भेंट की थी। मुलाकात में जेपी सेतु के समानांतर नए पुल के साथ कई अन्य योजनाओं पर सहमति बनी।

यह भी पढ़ें  बिहार के शहरों में स्टेट हाईवे पर बनेंगे 15 रेलवे ओवरब्रिज, निर्माण पर खर्च होंगे 700 करोड़ रुपये

आपको बता दे की बिहार के पटना शहर में गंगा पर बनने वाला चौथा पुल होगा। पटना में दीघा के पास रेल सह सड़क पुल सोनपुर को जोड़ता है। इसके अलावा पटना और हाजीपुर के बीच महात्‍मा गांधी सेतु पहले से चालू है और इसकी मरम्‍मत हो रही है। गांधी सेतु के पास ही नया फोरलेन पुल बनाने का काम भी शुरू हो चुका है। बैठक में यह तय हुआ कि केंद्र सरकार शीघ्र ही पटना से साहेबगंज होते हुए केसरिया के रास्ते अरेराज जाने वाली सड़क को नए एनएच के रूप में अधिसूचित करेगी। जेपी सेतु के समानांतर बनने वाले फोर लेन से पटना एम्स की कनेक्टिवटी इसी सेतु से होगी। इस बात पर भी सहमति बनी कि बिहटा से कोईलवर के चार किमी लंबाई में सड़क निर्माण के लिए अलग से निविदा करके एनएचएआइ द्वारा शीघ्र निर्माण कार्य आरंभ किया जाए।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : बिहार के इन 80 घाटों पर शुरू हुआ बालू खनन की प्रक्रिया, जाने विस्तार से….

बताया जा रहा है की सरिस्ताबाद से नाथोपुर के बीच 2.8 किमी सड़क को पटना-गया पथ के हिस्से के रूप में विकसित किए जाने को उचित विकल्प निकालने पर सहमति बनी। मोकामा के औैंटा से सिमरिया के बीच बन रहे पुल की प्रगति की भी समीक्षा हुई। पुल के दक्षिणी हिस्से के काम में कुछ परिवर्तन के कारण निर्माण कार्य प्रभावित है। नितिन नवीन ने गडकरी के समक्ष एनएच-107 महेशखूंट-सहरसा-मधेपुरा-पूर्णिया पथ के कमजोर रख रखाव के विषय को रखा। गडकरी ने एनएचएआइ को इस संबंध में निर्णय लेने को कहा।