बिहार: अपने घर में स्मार्ट मीटर लगाने से मना करने वाले ग्राहकों की कटेगी बिजली, विधुत मंत्रालय ने जारी किया आदेश

बिहार मे हर घर में स्मार्ट बिजली मीटर लगेंगे. वैसे उपभोक्ता जो इसका लगाने का विरोध करेंगे उनका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा. बिजली विभाग ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि बिहार इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई बोर्ड में ऐसा प्रावधान है. जो उपभोक्ता बिजली के काम में बाधा पहुंचाते हैं उनका बिजली कनेक्शन काट दिया जा सकता है. बिजली कंपनी स्मार्ट मीटर लगाने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र है। बिजली कंपनी को नए मीटर लगाने के लिए उपभोक्ताओं से सहमति लेने की आवश्यकता नहीं होगी। कंपनी अपने अनुसार हर घर में स्मार्ट मीटर लगा सकती है। भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय ने इस संबंध में आदेश जारी किया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में सरिया की कीमत 15 रुपये प्रति किलो हुई कम, सीमेंट के दाम 10 से 15 रुपये प्रति बोरी घटे

इसमें तीन स्पष्ट आदेश हैं जिसके तहत स्मार्ट मीटर हर घर में लगाना अनिवार्य किया गया है. उसके लिए बिजली कंपनी को किसी की सहमति की जरूरत नहीं होगी. स्मार्ट मीटर प्रीपेड है, इसलिए पैसा समाप्त होने पर स्वत: बिजली कट जाएगी. उपभोक्ताओं को इसके लिए बिजली कंपनी को नोटिस देने की भी आवश्यकता नहीं है। उपभोक्ताओं को इसके लिए स्वयं जागरूक होना होगा कि मीटर का पैसा समाप्त नहीं हो। बिजली कंपनी को पुराने मीटर बदलने के लिए भी उपभोक्ताओं से सहमति लेने की आवश्यकता नहीं है।

आपको बता दे की बिजली कंपनी मार्च 2025 तक पुरे बिहार में उपभोक्ताओं को स्मार्ट मीटर से लैस करने का लक्ष्य रखा है. पटना में मार्च 2021 तक का लक्ष्य है. उसके तहत पटना में एक लाख 70 हजार मीटर लगाए गए हैं. बिहार भर में पटना को मिलाकर साढ़े तीन लाख मीटर लगे हैं। राज्यभर में एक करोड़ 70 लाख

यह भी पढ़ें  मुजफ्फरपुर बाजार में आयी शाही लीची, 150 रुपये में बिकी सौ पीस, मुंबई और पंजाब भेजी गयी खेप