बिहार का पहला जू सफारी राजगीर में बनकर तैयार, पटना जू से बाघ को लाकर छोड़ा गया

बिहारवासियों का राजगीर जू सफारी (Rajgir zoo safari) के शुरू होने का इंतजार अब जल्द खत्म होने वाला है. बहुत जल्द इसकी शुरुआत होने के आसार है. वन विभाग जू सफारी की तैयारियों को आखिरी रूप देने में लगा है. आपको बता दे की इसे दिसंबर के पहले सप्ताह तक शुरू करने को लेकर चर्चा जोरों पर है. इस साल के अंत तक राज्य को नया टूरिस्ट हॉटस्पॉट मिलने उम्मीद है.

इस महीने के अंत तक पटना जू से एक बाघ और भेजा जाएगा। 2 तेंदुआ और दो भालू इसी महीने भेजा जाएगा। इसके बाद दो शेर को भेजा जाएगा। वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि जू सफारी में शेर, बाघ, तेंदुआ समेत अन्य जानवरों को पटना चिड़ियाघर से राजगीर शिफ्ट किया गया है.

यह भी पढ़ें  बिहार में पहली बार नियुक्त होंगे 702 डेंटल हाइजीनिस्ट, तकनीकी सेवा आयोग करेगा चयन

बताया जा रहा है की इस जू सफारी को देखने आने वाले पर्यटक खुले हुए सुरक्षित वाहनों में घूमते हुए जंगली जानवरों का दीदार कर पाएंगे। बता दे की वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस जू सफारी को सेंट्रल जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपनी मंजूरी दे दी है। इस जू सफारी मैं दक्षिण बिहार के सबसे बड़े मॉडल अस्पताल का भी निर्माण किया गया है जहां जानवरों का अच्छा इलाज हो सकेगा। अस्पताल में सभी अत्याधुनिक व्यवस्थाएं जैसे कि एक्सरे अल्ट्रासाउंड भी उपस्थित रहेगी।

जू सफारी से जुड़े कुछ अहम तथ्यजू- सफारी कुल क्षेत्रफल 191 हेक्टेयर

45.62 हेक्टेयर में हिरण, चीतल और सांभर सफारी

यह भी पढ़ें  VIDEO: क्या हुआ जब कटिहार के डीएम पहुंच गए मिड डे मील खाने? स्टाइल देखकर लोग भी कह रहे अरे वाह!

20.63 हेक्टेयर में तेंदुआ सफारी

20.60 हेक्टेयर में भालू सफारी

20.54 हेक्टेयर में शेर सफारी

20.50 हेक्टेयर में बाघ सफारी

10.74 हेक्टेयर में बर्ड एवियरी