किसान की बेटी ने बिना कोचिंग ऐसे पास किया UPSC Exam, फिर बनी IAS अफसर

UPSC (Union Public Service Commission) की परीक्षा को अपने आप में सबसे कठिन और कड़ा एग्जाम माना जाता है | ऐसा कहा जाता है कीं अगर इंसान ठान ले तो वो दुनिया में कुछ भी कर गुजर सकता है | असंभव (impossible) की भी एक न एक दिन शुरुआत करनी ही पड़ती है | और जब उसे सफलता मिलती है तो वही शख्स आने वाले पीढ़ी के लिए मार्ग दर्शन का कारण बनते हैं |

आज हम जिस अफसर के बारे में बात कर रहे है वो मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने यूपीएससी परीक्षा 2017 में ऑल इंडिया में 23वीं रैंक प्राप्त की थी और आईएएस अफसर बनीं. तपस्या की कहानी काफी दिलचस्प है, क्योंकि उन्होंने कोचिंग क्लास छोड़कर सेल्फ स्टडी पर भरोसा किया और सफलता प्राप्त की. हाल में एस्पिरेंट (Aspirant) नाम की एक वेबसीरीज आई थी, जिसमें UPSC (Union Public Service Commission) की तैयारी कर रहे तीन दोस्तों की कहानी दिखाई गई है. इस मौके पर हम आपको कुछ ऐसे ही लोगों की स्टोरी बता रहे हैं, जिन्होंने कई मुश्किलों का सामना कर यूपीएससी पास किया.

यह भी पढ़ें  पत्तल पर भोजन, कुल्हड़ में जलपान और बैलगाड़ी पर दूल्हा-दुल्हन, अनोखी शादी में फिर लौटा गुजरा जमाना

आपको बता दे की तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) मूल रूप से मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली हैं. उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई केंद्रीय विद्यालय से की. इसके बाद उन्होंने पुणे के इंडियन लॉ सोसाइटी लॉ कॉलेज (Indian Law Society’s Law College) से वकालत की पढ़ाई की. हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, वकालत करने के बाद तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने यूपीएससी एग्जाम देने का फैसला किया. इसके लिए उन्होंने कोचिंग ज्वॉइन कर ली, लेकिन पहले प्रयास में वे प्री परीक्षा में ही फेल हो गईं. तपस्या परिहार (Tapasya Parihar) ने पढ़ाई करने की रणनीति में बदलाव किया और कड़ी मेहनत की. तपस्या की मेहनत रंग लाई और उन्होंने UPSC (Union Public Service Commission) परीक्षा 2017 में ऑल इंडिया में 23वीं रैंक प्राप्त की.

यह भी पढ़ें  IAS इंटरव्यू सवाल : हमारे होंठों का कलर गुलाबी क्यों होती है ?