बिहार के स्कूली बच्चों के लिए खुशखबरी: अब खाना खिलाएगा बेंगलुरु का अक्षयपात्र फाउंडेशन

बिहार के स्कूली बच्चों के लिए एक बहुत ही बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है. आपको बता दे की बेंगलुरु का अक्षयपात्रा फाउंडेशन अब पटना, दानापुर व फुलवारीशरीफ के बच्चों को प्रधानमंत्री पोषण योजना के तहत दोपहर का खाना परोसेगा। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी और अपर मुख्य सचिव संजय कुमार की मौजूदगी में शिक्षा विभाग और अक्षयपात्रा फाउंडेशन के बीच बुधवार को इसको लेकर एकरारनामा किया गया। बताया जा रहा है की इस समझौते के तहत अक्षयपात्रा फाउंडेशन द्वारा पटना जिले के दानापुर, फुलवारीशरीफ, पटना सदर प्रखंड व पटना सदर स्थित शैक्षणिक अंचल गोलघर के कुल 204 विद्यालयों में कक्षा एक से 8 तक के लगभग 38 हजार बच्चों को मध्याह्न भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

यह भी पढ़ें  मिथिला वासियों को मोदी सरकार का तोहफा, उमगांव से महिषी तक बनेगा धार्मिक कॉरिडोर

जानकारी के लिए बता दे की शिक्षा विभाग स्थित मदन मोहन झा स्मृति सभागार में विभाग द्वारा पटना जिला के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (मध्याह्न भोजन) एवं अक्षयपात्रा फाउंडेशन, बेंगलुरु की ओर से फाउन्डेशन के उपाध्यक्ष स्वामी अनंत वीर्य दास ने एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया। इस अवसर पर विशेष सचिव-सह-निदेशक (माध्याह्न भोजन) सतीश चंद्र झा, शिक्षा सचिव असंगबा चुबा आओ, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा मनोज कुमार, निदेशक उच्च शिक्षा, डॉ. रेखा कुमारी व अन्य उप पदाधिकारी उपस्थित थे। बता दे की मध्याह्न भोजन निदेशक सतीश चंद्र झा ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच एकरारनामा के तहत शिक्षा विभाग द्वारा बलदेव उच्च विद्यालय, दानापुर में अक्षयपात्रा फाउंडेशन को एक केंद्रीकृत रसोई घर निर्माण हेतु 0.5 एकड़ (50 डिसमिल) भूमि 10 वर्षों के लिए उपभोग के लिए दी जाएगी।

यह भी पढ़ें  Bihar Weather Alert: बिहार में बदल रहा है मौसम का मिजाज, औरंगाबाद, गया और कैमूर में लू को लेकर अलर्ट

बताया जा रहा है की फाउंडेशन द्वारा उक्त रसोई में पोषण मानक अनुरूप भोजन तैयार कर 204 विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के बीच उपलब्ध कराया जाएगा। बता दे की शिक्षा विभाग इस कार्य में भोजन निर्माण अथवा वितरण के लिए परिवहन एवं मानक अनुरूप पोषक सामग्रियों के लिए कोई अतिरिक्त भुगतान का वहन नहीं करेगा। चैरिटी वर्क के तहत फाउंडेशन अपने साधन व श्रम का उपयोग करेगी।