अभी-अभी : मदरसा, संस्कृत और अल्पसंख्यक हाइस्कूलों के शिक्षकों का वेतन बढ़ा, जाने क्या होगा वेतनमान

शिक्षा विभाग ने बिहार के 814 मदरसों, 72 गैर सरकारी मान्यताप्राप्त अनुदानित अल्पसंख्यक हाइस्कूलों और 47 अनुदानित संस्कृत विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के वेतन की वृद्धि का निर्णय लिया है. वृद्धि दर से वेतन के निर्धारण के लिए वित्त विभाग के परामर्श से अलग से निर्देश दिये जायेंगे. मौजूदा वित्तीय वर्ष में बिहार के अराजकीय प्रस्वीकृत अनुदानित 1128 मदरसा एवं 2459+1 कोटि के मदरसा के तहत अनुदानित 814 मदरसों में कार्यरत शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मियों के वेतनादि भुगतान को कुल स्वीकृत राशि की दूसरी किस्त (32 फीसदी) 128 करोड़ की विमुक्ति एवं व्यय की स्वीकृति दी गयी है।

मिली जानकारी के अनुसार 29 अगस्त को बिहार सरकार ने पंचायती राज संस्थानों और नगर निकाय संस्थानों के तहत कार्यरत शिक्षकों और पुस्तकालायाध्यक्षों के वर्तमान वेतन में एक अप्रैल, 2021 से 15 फीसदी का इजाफा करने का निर्णय लिया गया था. इसी अनुपात में अल्पसंख्यक विद्यालयों ,मदरसों एवं संस्कृत विद्यालयों के वेतन में इजाफा करने का निर्णय लिया गया है.

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : आमस-दरभंगा एक्सप्रेस-वे 2024 में बनकर हो जायेगा तैयार, कोइलवर पुल के तीन लेन का लोकार्पण आज

वहीं, बिहार के अराजकीय प्रस्वीकृत 531 एवं अराजकीय प्रस्वीकृत 86 प्रतिकूल संस्कृत विद्यालय के प्रस्वीकृति पुर्नबहाल विद्यालय में से 46 विद्यालय एवं 205 कोटि के 1 विद्यालय में कार्यरत शिक्षक, शिक्षकेतर कर्मियों को वित्तीय वर्ष 2021-22 में वेतन भुगतान हेतु सहायक अनुदान की द्वितीय किस्त के 48 करोड़ रुपए की विमुक्ति का आदेश दिया गया है।