दुनिया में नहीं है पत्नी फिर भी अपने जिंदगी में यादो को जिंदा रखने के लिए बनबा दिया मंदिर

इस दुनिया में जन्म लेना और मरना ये तो प्रकृति क नियम है | अगर कोई अपना किसी का चल बस्ता है तो उसे भुलाना हमारे लिए एक चैलेंज बन जाता है | बहुत लोग को तो सदमा हो जाता है और वो भी इस सदमे को बर्दास्त नहीं कर पाते है | वहीँ कुछ लोग भूलकर अपनी जिंदगी में बीजी हो जाते है | आज इस खबर में एक ऐसे ही बात को बताने वाले है जो बेहद हैरान करने वाले है |

हम बात के रहे हा मध्यप्रदेश में रहने वाले एक परिवार ने अपने घर की महिला की मौत के बाद कुछ ऐसा किया कि अब वह हमेशा उनके साथ ही हैं. दरअसल एक पति ने अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद उसकी याद में एक मंदिर बनवा डाला. अब ये मंदिर इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ हैं | ज्यादातर देखने को मिलता हैं कि लोग किसी भगवान या समाजसेवी का मंदिर बनवाते लेकिन इस शख्स ने पत्नि का मंदिर बनवाकर सभी को हैरान कर दिया हैं. ये घटना मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले की हैं | इन्होने अपने दिलो में अपने पत्नी का याद जिंदा रखने के लिए एक मंदिर बनबा दिया |

यह भी पढ़ें  सोनू से मिलने नालंदा पहुंचे सुशील मोदी, नवोदय विद्यालय में एडमिशन व हर महीने आर्थिक सहयोग का किया वादा

बता दे की इसकी पत्नी गीताबाई का 27 अप्रैल को कोरोना की दूसरी लहर में निधन हो गया था. दरअसल परिवार वालों ने उन्हें बचाने के लिए पैसों पानी की तरह बहाए थे | लेकिन शायद भगवान को कुछ और ही मंजूर था. माँ के जाने के बाद बच्चों के लिए गम बुलाना आसान नहीं था और वह दिन उदास और गुमसुम बैठे रहते थे. जिसके बाद उनके दिमाग में माँ के नाम से मंदिर बनवाने का विचार आया |

और उन्होंने ये बात अपने पिता को बताई | माँ के निधन के दो दिन बाद 29 अप्रैल को उन्होंने प्रतिभा बनाने का आर्डर दिया था. जिसके बाद लगभग ढेढ महीनें बाद प्रतिभा तैयार हुई थी. बेटों का मानना हैं कि अब मां सिर्फ बोलती नहीं है, हालाँकि हर पल हमारे साथ रहती हैं | हमें अपनी माँ की कमी जब जब भी महशुश होती है तो हम अपने माँ के मूर्ति से गला लगा लेता हू |

यह भी पढ़ें  प्रेरणा : पुलिस ऑफिसर बनकर अपने स्कूल पहुंचा शख्स, शिक्षक के छुए पैर तो खुशी से दिया 1100 रुपये, देखे विडियो