ऐसा मामला आपने पहले शायद ही देखे होंगे दो लड़कियों का प्यार चढ़ा परवान, कोर्ट में रचाई शादी

आज हम बात करने जा रहे है दो ऐसे युवतियो के बारे में जो चप्पल फैक्ट्री में साथ काम करने वाली दो युवतियों का प्यार परवान चढ़ा तो उन्होंने शादी की ठान ली | समाज की बेड़ियों को तोड़ते हुए एक साथ जीने मरने की कसमें खा लीं. मामला बगहा के रामनगर (ramnagar) का है. जहां की नगमा खातून ने बेतिया की रहने वाली इशरत खातून esharat khan) से जालंधर के कोर्ट में शादी रचा ली आईये जानते है पुरे मामला को विस्तार से…

दो लड़कियों ने की समलैंगिक शादी :- जिला के रामनगर और बेतिया में दो लड़कियों की समलैंगिक शादी चर्चा का विषय बनी हुई है | कालीबाग बेतिया की रहने वाली इशरत खातून(पत्नी) के परिवार वालों ने इस शादी पर विरोध जताया है | जबकि रामनगर के मिसकट टोली निवासी नगमा खातून (पति) के परिजनों ने खुशी-खुशी इस रिश्ते का समर्थन किया | उन्होंने बताया की हमें इस रिश्ते से कोई आपत्ति नहीं है हम इस रिश्ते से खुश है | हालांकि समाज के लोग इससे नाखुश हैं. इसके बावजूद इनके हौसले को नहीं तोड़ पाए. इस अनोखे रिश्ते की खबर सुनकर दूर दूर से लोगों की भीड़ जुट रही है | और सब लोग इसके बारे में सुनकर अचंभित हो रहे है |

यह भी पढ़ें  प्रेरणा : पुलिस ऑफिसर बनकर अपने स्कूल पहुंचा शख्स, शिक्षक के छुए पैर तो खुशी से दिया 1100 रुपये, देखे विडियो

इशरत के घरवालों को मंजूर नहीं है रिश्ता :- इशरत का कहना है कि जब उसके परिवार वालों को पता चला कि उसने नगमा खातून से शादी कर ली है तो यह रिश्ता उन्हें मंजूर नहीं हुआ. ऐसे में उन्होंने मुझे धोखे से घर बुला लिया और मुझे शादी तोड़ने के लिए धमकाने लगे. इतना ही नहीं हमारे कोर्ट मैरिज का कागजात भी छीन लिया | और कहते है की तुम्हे ये शादी तोड़नीहोगी | जिसके बाद हमने अपने पति नगमा को कॉल कर बुलाया और फिर बेतिया नगर थाना में शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद कोर्ट में शादी का कागजात देख पुलिस ने मदद की पुलिस ने इशरत को उसके पति नगमा के घर रामनगर मिसकट टोली सही सलामत पहुंचा दिया |

यह भी पढ़ें  Indian Railway: कोटा-पटना सहित 27 ट्रेनें बदले मार्ग से चलेंगी, इन ट्रेनों का बदला गया रूट

इशरत और नगमा जालंधर की एक चप्पल फैक्ट्री में सालों से काम करते आ रहे हैं. चार साल पहले इनके बीच प्यार परवान चढ़ा और दो महीने पहले इन्होंने कोर्ट मैरिज कर ली और साथ रहने लगे. पति नगमा का कहना है कि हमारा यह रिश्ता जन्म-जन्मांतर का है | नगमा बेबाकी से कहती है कि भले ही समाज इस तरह के शादी को वैध नहीं मानता, लेकिन कोर्ट ने इसकी इजाजत दे दी है | ऐसे में अब कोई हमारे रास्ते का बाधा नहीं बन सकता |