युवक ने खोजी ऐसी तकनीक, डबल माइलेज देने लगी बाइक, पेट्रोल का खर्च घटकर हुआ आधा

40 से 50 किलोमीटर प्रति लीटर माइलेज देने वाली आपकी बाइक अगर एक लीटर में इससे दोगुना माइलेज देने लगे तो! अगर आप इसे मजाक समझ रहे हैं तो ठहरिये। असंभव लगने वाले इस काम को संभव कर दिखाया है कौशाम्बी के विवेक कुमार पटेल ने। विवेक ने जुगाड़ तकनीक से वो कर दिखाया है जो करने के लिये कंपनियों ने ऑटोमोबाइल इंजीनियरों की फौज लगा रखी है। उन्होंने फ्यूल इंजेक्शन सिस्टम में मामूली बदलाव कर गाड़ी का माइलेज दोगुना कर दिया है। माइलेज दोगुना होने से पेट्रोल पर आने वाला खर्च भी घटकर आधा रह जाएगा। विवेक को इंतजार है उस पल का जब ऑटोमोबाइल सेक्टर के विशेषज्ञ उसकी इस तकनीक पर मुहर लगा दें। हालांकि अंकुश ने उसके पहले ही अपने इस अविष्कार के पेटेंट के लिये आवेदन किया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में मुंग की खेती कर लाखों रूपये कमा रहे है बिहार के किसान, इस जिला में हो रही बेहतर उपज

2016 में मिली थी पहली सफलता

कौशांबी के पिपरी पहाड़पुर निवासी तकनीशियन विवेक कुमार पटेल ने अपनी इस जुगाड़ तकनीक को ‘कार्बोरेटर जेट’ का नाम दिया है। 12वीं पास विवेक यूं तो घरों में शटरिंग का काम करते हैं, लेकिन उनका नवोन्मेषी मस्तिष्क हमेशा कुछ नया करने की कोशिश को प्रेरित करता है। विवेक बताते हैं कि वह पिछले दो दशक से इस कोशिश में जुटे थे कि दो पहिया वाहनों में माइलेज कैसे बढ़ाया जाए। शुरुआती सालों में उन्हें कोई खास सफलता नहीं मिली, लेकिन हाल के वर्षों में आखिरकार उन्हें कामयाबी मिल ही गई। अपने काम से समय निकालकर उन्होंने बाइक की उस तकनीक को समझा और उसपर काफी मंथन किया, जिससे तेल गाड़ी चलाता है। 2016 में उन्हें माइलेज बढ़ाने में सफलता तो मिली लेकिन वह बहुत छोटी थी।

यह भी पढ़ें  भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली बाइक्स, कीमत और फीचर्स जानकर हो जाएंगे हैरान

500 वाहनों में लगा चुके हैं

उनकी इस जुगाड़ तकनीक की चर्चा हर तरफ होने लगी। उनका कहना है कि वो अब तक करीब 500 दोपहिया वाहनों में अपना बनायया कार्बोरेटर जेट फिट कर चुके हैं। जेट लगवाने वाले कई चालकों का कहना है कि इसके लगाने के बाद उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई। हालांकि कुछ इंजन पर असर पड़ने की आशंका है। ऐसे में अगर ऑटोमोबाइल विशेषज्ञ इसे मंजूरी दे देते हैं तो ये आशंका भी खत्म हो जाएगी।