पांच बार दिया UPSC एग्जाम, पढ़ाई में नहीं थे कुछ खास, ऑल इंडिया 3 रैंक हासिल कर IAS बने थे जुनैद

उत्तर प्रदेश के बिजनौर के रहने वाले जुनैद अहमद की कहानी किसी भी युवा को प्रेरित कर सकती है। जुनैद का एजुकेशनल बैकग्राउंट काफी कमजोर रहा, लेकिन वह बचपन से ही IAS अधिकारी बनना चाहते थे। IAS बनने के लिए जुनैद दिल्ली आ गए थे। UPSC 2019 में जुनैद को ऑल इंडिया 3 रैंक प्राप्त हुई थी। जुनैद अहमद ने अपने कठिन परिश्रम से ही एवरेज स्टूडेंट से यूपीएससी टॉपर तक का सफर तय किया था।

जुनैद अहमद को UPSC में पांचवे प्रयास में ये सफलता मिली थी। चौथे प्रयास में UPSC एग्जाम में उनका चयन हो गया था, लेकिन उनकी रैंक 352 थी जिससे जुनैद को संतुष्टि नहीं मिली थी। उन्होंने एक बार फिर यूपीसएससी एग्जाम देने का फैसला किया था। 2019 में ऑल इंडिया 3 रैंक प्राप्त कर उनका IAS अधिकारी बनने का सपना पूरा हो पाया। इसके बाद जुनैद ने तुरंत IAS चुना और आज वह देश के नामचीन अधिकारी हैं।

यह भी पढ़ें  IAS इंटरव्यू सवाल : एक ऐसा नाम बताएं जिसमें फल, फूल और मिठाई का नाम आता है?

जुनैद ने एक इंटरव्यू में बताया था, ‘अगर आप यूपीएससी की तैयारी करना चाहते हैं, तो आप जीरो से शुरू करके भी यहां सफलता प्राप्त कर सकते हैं। वे कहते हैं कि कई लोगों ने उन्हें यह कहकर डिमोटिवेट किया कि एवरेज स्टूडेंट इस परीक्षा को पास नहीं कर सकते। लेकिन कड़ी मेहनत की बदौलत उन्होंने अपना सपना पूरा कर लिया। जुनैद कहते हैं कि असफलताओं से घबराना नहीं चाहिए और लगातार अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए।’