किसान का सही में कोई नहीं! 15 किलो टमाटर 2 रुपये में देने को कहा, किसान ने सड़क पर फेंक दी फसल

कोरोना महामारी के बढ़ते कहर के कारण बहुत से राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है. हालांकि ये लॉकडाउन जनता की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लगाया गया है लेकिन अब इसके दुष्प्रभाव भी सामने आ रहे हैं. देशभर के किसानों को इस लॉकडाउन के कारण जूझना पड़ रहा है. 

यह समस्या उन किसानों के लिए ज़्यादा बड़ी है जो अपने खेतों में सब्जियां उगाते हैं. बड़े पैमाने पर सब्जियों को ज़्यादा दिन तक रख पाना संभव नहीं है और बाजार में ये सब्जियां सही समय पर पहुंच नहीं पा रही हैं. जिसकी वजह से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. दूसरी तरफ सब्जियों के गिरते दाम भी किसानों के लिए बड़ी समस्या बन गई है. इन्हें सब्जियों का इतना कम दाम मिल रहा है कि मुनाफा तो दूर इनकी लागत तक पूरी नहीं हो पा रही. 

यह भी पढ़ें  5G in India: स्वदेशी 5जी सेवाएं इस साल अगस्त तक शुरू होने की उम्मीद

कुछ दिनों से कर्नाटक के कोलार से एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि टमाटर के गिरते दाम से दुखी किसान किस तरह से बड़ी मात्रा में टमाटर को सड़कों पर फेंक रहे हैं. वीडियो में ये किसान ये कहते हुए नजर आ रहे हैं कि “उन्हें 15 किलो टमाटर के मात्र 2 रुपए लेने को कहा जा रहा है. इतने कम दाम से तो सब्जियों के ट्रांसपोर्ट का खर्चा तक नहीं निकल पाएगा.” 

यह भी पढ़ें  Bank Holidays: जून में अब कितने दिन बंद रहेंगे बैंक, काम की प्लानिंग से पहले चेक कर लें पूरी लिस्ट

कुछ दिनों से कर्नाटक के कोलार से एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि टमाटर के गिरते दाम से दुखी किसान किस तरह से बड़ी मात्रा में टमाटर को सड़कों पर फेंक रहे हैं. वीडियो में ये किसान ये कहते हुए नजर आ रहे हैं कि “उन्हें 15 किलो टमाटर के मात्र 2 रुपए लेने को कहा जा रहा है. इतने कम दाम से तो सब्जियों के ट्रांसपोर्ट का खर्चा तक नहीं निकल पाएगा.” 

यह भी पढ़ें  हफ्ते भर में तीन से चार हजार और सस्ती हो सकती है सरिया की कीमतें