बिहार में ‘ताऊ ते’ का साफड इफेक्ट, कई जिलों में बारिश; दिन में रात जैसा नजारा

बिहार में गुरुवार की सुबह जैसे ही लोगों की आंखें खुलीं वातावरण में बादल छाए मिले कई जगह बारिश हो रही थी। पटना के अलावा वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी ,भोजपुर, बक्सर एवं गया सहित राज्य के कई जिलों में झमाझम बरसात हुई। इसे अरब सागर में उठे चक्रवात का साइड इफेक्ट भी माना जा रहा है। बारिश के दौरान आकाश काले बादलों से पट गया। दिन में ही अंधेरा इतना गहरा छा गया जैसे रात का नजारा देख रहा था।

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक का कहना है कि अरब सागर में उठा चक्रवात धीरे-धीरे समाप्त हो गया है लेकिन उसका साइड इफेक्ट उत्तर प्रदेश एवं बिहार पर देखा जा रहा है। कल दिल्ली में भी बारिश रिकॉर्ड की गई थी। उसके बाद उत्तर प्रदेश और आज तड़के बिहार के अधिकांश जिलों में झमाझम बारिश हो रही है। सुबह में बारिश होने से प्रदेश का वातावरण काफी ठंडा हो गया है इस तरह की स्थिति कल तक बने रहने की उम्मीद है। उसके बाद धीरे-धीरे मौसम सामान्य हो जाएगा।

यह भी पढ़ें  बिहार में पेट्रोल-डीजल के दाम में उतार-चढाव, मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर में दाम कहीं घटे तो कहीं बढ़े

बारिश से किसानों के लिए बड़ी राहत 

प्री मानसून की बारिश किसानों के लिए बड़ी राहत दे गई। किसान अब खरीफ फसलों के लिए खेती-बाड़ी शुरू करने वाले हैं। ऐसे में आज की बारिश से धान का बिचड़ा डालने से पूर्व में हुए खेतों को आसानी से साफ कर सकते हैं। मालूम हो कि 25 मई से राज्य में धान का बिचड़ा डालने का काम शुरू हो जाता है। ऐसे में किसानों को बारिश नहीं होने पर बोरिंग से खेतों की सिंचाई करनी पड़ती लेकिन अब उनके खेत इस बारिश से पट गए हैं। इससे खरपतवार साफ करने में सहूलियत होगी ।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : अगले महीने होगा गांधी सेतु के पूर्वी लेन का उद्घाटन, उत्तर बिहार के लोगों को होगी सहूलियत