“रोहित 9वें नंबर के जगह 7वें नंबर पर क्यूँ नहीं आये बैटिंग करने”, सुनील गावस्कर ने लगाई रोहित शर्मा की क्लास

Ind vs Ban : किसी भी खेल में हार जीत लगी रहती है. हार से इन्सान कुछ न कुछ सीखता है. और साथ ही खेल में जीत जाने पर इन्सान को घमंड नहीं करना चाहिए. India vs Bangladesh के बीच दूसरा एक दिवसीय अन्तराष्ट्रीय मैच में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है. इस मैच के बाद एक बात तो साफ़ हो गई की टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा एक झुझारू प्लेयर है.

रोहित शर्मा का दिखा झुझारू अंदाज

जिस तरह से चोटिल होने के बाद भी रोहित शर्मा ने 9वें नंबर पर आ कर बल्लेबाजी की , इस उत्साह से टीम इंडिया के बाकि युवा खिलाडियों को काफी प्रेरणा मिलेगी. साथ ही सभी युवा प्लेयर को कप्तान रोहित शर्मा से सिख लेनी चाहिए की आपकी स्थिति कैसी भी हो , किसी भी परिस्थिति में हार नहीं माने और अंत तक खेले.

खेली कप्तानी वाली पारी

जानकारी के लिए आपको बता दें की बांग्लादेश जब बल्लेबाजी कर रहा था तब, रोहित शर्मा स्लीप में फील्डिंग कर रहे थे . अचानक एक बॉल कप्तान रोहित शर्मा के हाथ के अंगूठे पर जा लगी . चोट गहरी थी. रोहित शर्मा को तुरंत फील्ड से बाहर जाना पड़ गया. वैसे टेस्ट की रिपोर्ट के बाद पता चला की कोई डरने वाली बात नहीं है.

रोहित शर्मा को देख बांग्लादेश रह गया था हक्का बक्का

फिर रोहित शर्मा की जरुरत टीम इंडिया के बैटिंग में पड़ने लगी. भारत हार के दहलीज़ पर खड़ी थी. उसी वक्त 9 वें नम्बर पर रोहित शर्मा बल्लेबाजी करने आ गए. ये देखने के बाद पूरा बंगलादेशी खेमा सन्न रह रह गया. रोहित शर्मा में शानदार बैटिंग किया. वो 28 बॉल पर 51 रन बना डाले . पर टीम इंडिया को जीत न दिला सके.

सुनील गावस्कर हुए नाराज

अब पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने भी रोहित शर्मा से सवाल पूछ दिया की “अगर रोहित शर्मा 9 वें नंबर पर बल्लेबाजी करने आ सकते है तो वो 7 वें नंबर पर भी बल्लेबाजी कर सकते थे.” बेशक सुनील गावस्कर भारत के हार से दुखी होंगे. लेकिन कप्तान की कप्तानी भरी पारी को उन्हें नहीं भूलना चाहिए.