कभी बनी थी मिस गोरखपुर, भाई है दिव्यांग, घर चलाने के लिए छोड़ा मॉडल बनने का सपना, खोली चाय की दुकान

यह कहानी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के रहने वाली मॉडल चाय वाली सिमरन की है . उन्होंने अपने परिवार के लिए अपने सपनों को कुर्बान कर दिया. आज वह मॉडल चायवाली के नाम से चाय की दुकान चला रही हैं.. सिमरन एक मॉडल थी. घर परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण उसे एक चाय की दुकान खोलने पड़ी.

उत्तर प्रदेश राज्य के गोरखपुर जिले के रहने वाली सिमरन मिस गोरखपुर की खिताब जीत चुकी है. साल 2018 में मिस गोरखपुर की खीताब जीती सिमरन का सपना था, कि वह मॉडल बने. सिमरन अपना सपना पूरा करने के लिए मुंबई जाना चाहती थी. लेकीन कोविड-19 के कारण उनके घर की आर्थिक स्थिति खराब हो गई.

Credit : India times

घर की आर्थिक स्थिति ख़राब होने के वजह से वह अपना सपना पूरा नहीं कर पाई. दुर्भाग्य से सिमरन के भाई दिव्यांग है. शिमरन के पिता का नाम राजेंद्र कुमार गुप्ता है. सिमरन अपने घर की स्थिति ठीक करने के लिए मॉडल चायवाली के नाम से चाय की दुकान खोली है. जिससे सिमरन अपने परिवार की खर्च उठा पाती है. सिमरन को अभी भी उम्मीद है कि शायद उन्हें वह दोबारा मौका मिल जाए.

मीडिया कंपनी इंडिया टाइम्स के अनुसार सिमरन बताती हैं कि वो ग्रेजुएट चायवाली प्रियंका गुप्ता और एमबीए चायवाला प्रफुल्ल से प्रभावित होकर यह चाय की दुकान खोली है. इसमें सोशल मीडिया का काफी सपोर्ट राहा है. उनके यहां चाय पीने के लिए लाइन लगी रहती है. लोग उनके चाय की खूब तारीफ करते हैं.