भाई और पिता दोनों ग्लास की फैक्ट्री में काम करते हैं, बेटी का सिलेक्शन अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए हुआ

उत्तर प्रदेश राज्य की एक मजदूर की बेटी ने अपने मेहनत के दम से उन्हें भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम में जगह मिल गई है , कहते है ना की कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती है. आज इसी लाइन को उत्तर प्रदेश की बेटी ने साबित कर दिया. यह लड़की उत्तर प्रदेश राज्य की रहने वाली है.

दरअसल यह कहानी उत्तर प्रदेश राज्य के फिरोजाबाद जिला के गांव राजा का ताल की रहने वाली सोनम यादव की है. उनके पिता का नाम मुकेश यादव है. सोनम यादव के पिता ग्लास के फैक्ट्री में मजदूरी का काम करते है . सोनम यादव के भाई अमन भी मजदूरी का ही काम करते है. सोनम बचपन से ही क्रिकेट की शौकीन थी.

Credit : Patrika

सोनम अपना कैरियर क्रिकेट में बनाना चाहती थी. सोनम ने अपना कैरियर बनाने के लिए काफी मेहनत की तब जाकर उन्हें भारतीय अंडर-19 महिला क्रिकेट टीम में शामिल होने का मौका मिला. सोनम यादव घरेलू मैचों में शानदार प्रदर्शन के दम पर आज भारतीय टीम में उन्हे जगह मिली है. इससे पहले सोनम अंडर-19 महिला टीम A की तरफ से वेस्टइंडीज, श्रीलंका के खिलाफ मैच खेले है. जिसमें फाइनल में जीत हुई उसमें सोनम यादव की अहम भूमिका थी.

Credit : Aajtak

अब क्रिकेट प्लेयर सोनम यादव पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ 27 नवंबर से शुरू होने वाली सीरीज में खेलेंगे. उसके बाद जनवरी में होने वाले विश्वकप खेलने के लिए दक्षिण अफ्रीका भी जाएंगी. इस कामयाबी से उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ने भी बधाई दी है. सोनम यादव अपनी सफलता का श्रेय अपने भाई और पिता को दिया है.