बंद पड़े गराज में शुरू किया काम, शुरू में किसी ने नहीं खरीदा, फिर हुआ कुछ ऐसा, देखते-देखते हो गई 6000 करोड़ की कंपनी

कहते है ना कब किसकी किस्मत बदल जाए है, ये किसी को नहीं पता है. अगर यह बात की यकीन नहीं है, तो आपको Gymshark कम्पनी के फाउंडर फ्रांसिस के बारे में जानना चाहिए. जो एक जमाने में पिज्जा डिलेवारी बॉय का काम करते थे. वो आज फोर्ब्स की सबसे अमीर व्यक्ति के लिस्ट में शामिल है. आज इस लड़के का कंपनी 6000 करोड़ से अधिक का है .

इस लड़के का सफलता की शुरूआत 2012 से हुई थी. फ्रांसिस ने अपनी सोच और मेहनत से दुनिया भर में अपना एक अलग पहचान बना ली है. यह कहानी ब्रिटेन में रहने वाले बेन की है. जो एक जमाने में पिज़्ज़ा डिलीवरी का काम करते थे. वो दौर काफी मुश्किलों भरा था. आज बेन तक़रीबन 6000 करोड़ से अधिक का मालिक है. ये मुकाम बेन ने अपने दम पर हासिल किया है.

जिम में पहनने वाले कपड़ों के लिए Gymshark एक अपना अलग पहचान बना चुकी है. बेन ने कभी नहीं सोचा था , कि उसका कंपनी एक दिन इनती बड़ी ब्रांड बन जाएगी. बेन शुरू से ही जिम का बहुत बड़ा शौकीन था . उन्हें जिम में जाने के लिए उसके पसंद के कपड़े नहीं मिल पाते थे. तब बेन को आईडिया आया और बेन ने जिम का कपड़ा बनाने को सोचा.

उस समय बेन विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहे थे. पढ़ाई के साथ साथ अपना पॉकेट खर्च निकलने के लिए पिज्जा डिलीवरी का काम भी करते थे . उसके बाद बेन ने पढ़ाई छोड़ दी और अपने पिता के गैरेज में अपनी छोटी सी एक कपड़े की दुकान खोल दी. बेन धीरे धीरे तरक्की करते गए. उनका कपड़ा बिकने लगा. उससे बेन को काफी मुनाफा हुआ

बेन ने अपने कंपनी का नाम Gymshark रख दिया. इस कंपनी में बहुत से ग्राहक हो गए. चार-पांच साल में यह कंपनी करोड़ों में बदल गई. यह कंपनी को बढ़ाने में सोशल मीडिया के अहम रोल रहा.

आज जिमशार्क के संस्थापक और सीईओ बेन फ्रांसिस की कंपनी में 70% से अधिक की हिस्सेदारी है. 2021 तक उनकी कुल संपत्ति 700 मिलियन पाउंड (6371करोड़ रुपये की है.