पाई-पाई जोड़ कर किसान पिता ने बेटी को पढाया, आँखे नम कर देंगी SDM ऋतू की कहानी.

एक पिता ही है जो अपने बच्चों के भविष्य के लिए कुछ भी कर सकते हैं. इसी बात को सच साबित किया है एक किसान, जिसकी बेटी रितु रानी है. जो अपने मेहनत के दम पर SDM बनी. रितु रानी अपने पिता के सपनों को साकार करने के लिए अपनी मेहनत से SDM बनी. लेकिन अफसोस जब रितु का सपना पूरा हुआ तो उस मौके पर उनके साथ उनके पिता नहीं थे, उनके पिता गुजर चुके थे.

Credit : India Wave

Ritu Rani Success Story उत्तर प्रदेश राज्य के मुजफ्फरनगर जिले की रहने वाली लड़की है . उनके पिता का नाम वेदपाल सिंह है. जब उनके पिता अपनी बेटी रितु को पढ़ाने के लिए शहर भेजा, तो लोगों ने बहुत ताने मारे. लोगों ने उन्हें कहा कि लगता है कि उनकी बेटी कलेक्टर बन आएगी. जब रितु को कई सालों तक सफलता नहीं मिली, तो लोगों ने SDM रितु को और भी ताने मारने लगे. लेकिन रितु ने हर चुनौतियों का डटकर सामना किया. और अपने पढाई में और भी मेहनत करने लगी.

ऋतु के पिता का कहना था कि एक दिन मेरी बेटी मेरा और इस जिले का पूरे भारत में नाम रोशन करेगी. ऋतु के पिता एक साधारण किसान थे. पिता के दो और भाई थे यानि ऋतू के चाचा भी किसान थे . उनके परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत बेहतर नही थी. लेकिन जैसे तैसे करके ऋतु के पिता वेदपाल ने बेटी की पढ़ाई का खर्च उठाया करते थे.

Credit : India Wave

एक समय ऐसा था की ऋतू रानी नेMBA करने के बाद नौकरी करने लगी. लेकिन उसके पिता ने उसे UPSC (Union Public Service Commission) की तैयारी करने के लिए हौसला बढ़ाएं. रितु सिविल सर्विसेज की तैयारी करके लगी. लेकिन आपको बता दें कि जब ऋतु का सपना पूरा हुआ, इस मौके पर उनके पिता नहीं थे. उनके पिता का निधन हो गया था. ऋतु के पिता का निधन 2017 में ही हो गया था. रितु ने 2019 की UPSC परीक्षा पास कर 34 वी. रैंक हासिल कर SDM बन गई और जिले और अपने परिवार का नाम रोशन की.