बिहार की नई पहचान, इस जिला में बना देश की सबसे पावरफुल इलेक्ट्रिक इंजन, जानें खासियत

जहाँ भी हम रेल गाड़ी जाते हुए देखते है तो बस देखते ही रह जाते है. क्योकि रेल गाड़ी होता ही इतना आकर्षक है. भारत में रेल नेटवर्क कोने-कोने तक फैला हुआ है. इसीलिए यहाँ रेल के डब्बे के साथ-साथ रेल का इंजन का भी निर्माण किया जाता है. हाल ही में हमने एक ऐसा शक्तिशाली इलेक्ट्रिक इंजन बनाया है जो दुनिया के किसी देश में नहीं बनता. यह रेल इंजन बिहार के मधेपुरा के Alstom फैक्ट्री में बन कर तैयार हुआ है.

जी हाँ दोस्तों यह रेल इंजन बिहार के मधेपुरा जिला में बना है. Madhepura Electric Locomotive Pvt. Ltd.- (MELPL ) नामक एक कंपनी बनाई गई थी. इस कंपनी में भारत के रेल मंत्रालय और फ़्रांस की Alstom कंपनी दोनों एक साथ काम करती है. पहले हमारे देश में 5,000 हार्सपावर तक ही इंजन बनता था. परन्तु अब समय बदल गया है 12000 हॉर्सपावर इलेक्ट्रिक इंजन बनाने वाला हमलोग अब दुनिया के छठा देश बन गए है.

यह रेल इंजन 12000 हॉर्सपावर की ताकत रखता है. इसका नाम Twin BO Bo Design है. बिहार के मधेपुरा जिला में बनने वाला यह इंजन इतना शक्तिशाली है की मालगाड़ी को भी 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से दौड़ा सकता है. डील के मुताबिक प्रत्येक वर्ष 120 रेल इंजन का निर्माण होगा. इसका परिक्षण भी बड़ी लाइन पर कर लिया गया है.

बिहार के मधेपुरा जिला में बनने वाला यह पावरफुल इलेक्ट्रिक इंजन की खासियत यह है की यह एक्सल लोड 22.5 टन तक आसानी से लेकर दौड़ सकता है और 25 टन लोड को बढाया भी जा सकता है. इसका उद्योग मधेपुरा जिला के 250 एकड़ जमीन पर बनाया गया है. यह भारत के महत्वाकांक्षी योजना Make in India के तहत इसका निर्माण किया गया है.