हिन्दुस्तान यूनिलीवर का बिहार में 500 करोड़ के फैक्ट्री का ऐलान, इस जिला में लगेगा फूड प्रोसेसिंग प्लांट

बिहार में उद्योग और फैक्ट्री लगाने के लिए सभी राष्ट्रीय और बहुराष्ट्रीय कंपनी काफी दिलचस्पी ले रही है. हाल ही में दिल्ली में संपन्न हुई निवेशक सम्मलेन में एफएमसीजी की बहुराष्ट्रीय कंपनी हिन्दुस्तान यूनिलीवर ने बिहार में 500 करोड़ के निवेश का ऐलान कर दिया. इस मीटिंग में बिहार को कई और प्रस्ताव मिले. ज्ञात हो की हिन्दुस्तान यूनिलीवर तेल, साबुन, खाने का सामान , पीने का पानी, सर्फ , चाय पत्ती, कॉफ़ी , आइसक्रीम , कॉस्मेटिक प्रोडक्ट जैसे लक्मे , पोंड्स जैसे हजारों प्रकार के सामान बनाती है.

Image Credit : Google Image

पिछले साल की बात करे तो बिहार में इथेनॉल नीति के तहत पूर्णिया का इथेनॉल फैक्ट्री चालू हो गया है. साथ ही आरा जिला का इथेनॉल प्लांट बन कर तैयार होने ही वाला है. कुछ ही महीने में आरा वाला फैक्ट्री भी चालू हो जायेगा. इसके अलावा बिहार सरकार को कई और निवेश के प्रस्ताव मिले थे. जिसमे 36 हजार करोड़ का प्रस्ताव जो कई कंपनी में मिल कर दिया था , जिसको मंजूरी दे दी गई है.

वर्तमान में बिहार में हिंदुस्तान यूनिलीवर कुछ घरेलु प्रोडक्ट के अलावा फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने का सोच रही है. यहाँ के वारिये अधिकारी ने मुजफ्फरपुर जिला के मोतीपुर में स्थित चीनी मिल का दौरा किया था. सभी जगह पर जमीन अधिग्रहण के लिए स्थान को चिंहित किया जा रहा है. साथ ही मुजफ्फरपुर के वियाडा में बंद पड़ी फैक्ट्री को खाली करा कर वहां की जमीन अडानी , अंबानी और हिंदुस्तान यूनिलीवर को सौप दी जाएगी.

बिहार में कई और कंपनी ने फैक्ट्री लगाने के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा है. अडानी और अंबानी समूह के अलावा ब्रिटेनिया  700 करोड़ का फैक्ट्री लगाने का रणनीति तैयार कर रही है. इसी कड़ी में केवेंटर्स एग्रो ने 600 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव भेजा है और जेआईएस ग्रुप ने 300 करोड़ का. अगर सभी कम्पनी वादे के मुताबिक बिहार के जिला में निवेश करती है तो बिहार का दिन बदल सकता है.