apanabihar.com 115scscs

देश में जगह-जगह वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन (मिनी बुलेट ट्रेन) का ट्रायल चल रहा है. वन्दे भारत ट्रेन को मिनी बुलेट ट्रेन भी कहा जा रहा है. क्योकि इस ट्रेन की स्पीड लगभग बुलेट ट्रेन की आधी है. वर्तमान समय में दिल्ली से वाराणसी और दिल्ली से वैष्णो देवी कटरा के लिए वन्दे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का परिचालन हो रहा है. अब इस ट्रेन को उत्तर प्रदेश से बिहार होते हुए झारखण्ड तक भी चलाने का प्लान बनाया जा रहा है.

Also read: बहुत ही खास है बिहार का ये रेलवे स्टेशन, यहां सिर्फ एक्सप्रेस ट्रेनों का होता है ठहराव

बिहार उत्तर प्रदेश झारखण्ड समेत देश के सभी हिस्से की रेल पटरियां पुराने तरीके से बनी हुई है. इसीलिए फ़िलहाल इस ट्रेन को 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से चलाने का आदेश था. लेकिन अब वन्दे भारत ट्रेन का अधिकतम स्पीड 200 किलोमीटर प्रति घंटे कर दिया गया है. इसके लिए तीन तरह का काम किया जा रहा है.

Also read: पटना-बक्सर तक बनेगा फोरलेन सड़क, दानापुर-बिहटा के बीच एलिवेटेड सड़क के लिए निकला टेंडर

पहला सभी रेल पटरियों में और अधिक स्लीपर लगाकर पटरी को मजबूत किया जा रहा है. रेल पटरी मजबूत करने का काम सबसे महत्वपूर्ण है. दूसरा रेलवे लाइन के दोनों तरफ दिवार बनाया जायेगा. ताकि कोई भी बाहरी वास्तु ट्रेन के चपेट में न आ सके. और तीसरा है कवच प्रणाली. यह कवच प्रणाली वन्दे भारत ट्रेन को और सुरक्षित करेगी. सेम ट्रैक पर आने वाली ट्रेन को तुरंत पता लगा लेगी और आटोमेटिक ब्रेक लग जायेगा.

Also read: Special Train News: बिहार से इन राज्यों के लिए चलेगी स्पेशल ट्रेनें, देखें लिस्ट

डीडीयू – मानपुर- प्रधानखंटा रेलखंड के 417 किलोमीटर ट्रैक पर काम शुरू हो चूका है. इस रेल रूट का काम 2024 तक खत्म कर लिया जायेगा और वन्दे भारत ट्रेन का संचालन कर दिया जायेगा. इस रेलखंड पर वन्दे भारत एक्सप्रेस चलाने के लिए 4 फेज में काम पूरा किया जायेगा. फेज एक में उत्तर प्रदेश के सोननगर से बिहार के गया जिले तक का काम होगा. यह जानकारी मुख्य जन संपर्क अधिकारी वीरेंद्र कुमार ने दिया.

Also read: बिहारवासियों के लिए खुशखबरी, इन तीन 3 जिलों में बनेगा 160 किलोमीटर का नया हाईवे

बता दें की 417 रूट किलोमीटर लंबे पं. दीन दयाल उपाध्याय जं.-मानपुर-प्रधानखांटा रेलखंड भारतीय रेल के दिल्ली-हावड़ा रेलखंड के व्यस्तम मार्ग है. यह रेल रूट उत्तर प्रदेश , बिहार , झारखण्ड होते हुए पश्चिम बंगाल तक जाता है. इस रेलखंड में कुल 8 जंक्शन होंगे. पुरे रूट में 77 स्टेशन होंगे. वर्तमान में इस रूट पर सभी ट्रेनें लगभग 100 से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से चलती है. लेकिन वन्दे भारत के आ जाने से यहाँ स्पीड बढ़ा कर 160 किलोमीटर प्रति घंटा कर दिया जायेगा.