Solar Car: टीचर ने बना डाली सोलर कार, 11 साल की लगी मेहनत; कहा- ‘मदद मिल जाती तो बन जाता एलन मस्क’

द्देश में बढ़ते पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर अक्सर लोग परेशान रहते है. खास बात यह है की अब कार इंडस्ट्री फॉसिल फ्यूल पर निर्भर न रहकर अब इलेक्ट्रिक एनर्जी के इस्तेमाल की ओर बढ़ रही है. सोलर कारों को तैयार करने पर भी काम चल रहा है. श्रीनगर के सनत नगर के रहने वाले बिलाल अहमद भी लंबे समय से सोलर कार के कॉन्सेप्ट पर काम कर रहे थे. लंबे समय तक की गई कड़ी मेहनत और उनका शोध अब रंग ले आया है. बिलाल अहमद ने एक सोलर कार बनाई है. इसे बनाने में उन्हें 11 साल लग गए.

कार में इस्तेमाल किए गए मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

आपके जानकारी के लिए बता दे की इस कार में लग्जरी कारों के जैसे फीचर्स मिल जाते हैं. कार पूरी तरह से इलेक्ट्रिसिटी पर चलती है, जो मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनलों से जनरेट होती है. बता दे की अहमद ने कार में इस विशिष्ट प्रकार के सौर पैनलों का उपयोग इसलिए किया क्योंकि यह कम सौर ऊर्जा में भी ज्यादा बिजली जनरेट करने में सक्षम हैं. कार पूरी तरह से ऑटोमेटिक है. इसके बोनट, रूफ, साइड ग्लास और रियर ग्लास पर सोलर पैनल लगे हैं. इसके डोर ऊपर की ओर खुलते हैं, इन पर भी सोलर पैनल लगे हैं.

एलन मस्क की तरह बनना चाहते हैं अहमद

बताते चले की बिलाल अहमद मैथमेटिक्स के टीचर हैं. उनका कहना है कि अगर किसी ने उनकी मदद की होती तो वह काफी पहले कश्मीर के एलन मस्क बन जाते. बता दें कि आटोमोटिव और टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री में एलन मस्क एक बहुत बड़ा नाम है, वह दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति भी हैं. हाल ही में उन्होंने ट्विटर को खरीदकर पूरी दुनिया को चौंका दिया था.