Sahara India के निवेशकों को जल्द वापस मिलेंगे पैसे, किया गया समिति का गठन- जानें

Sahara India Investor’s Refund Status 2022 : अपने खर्चों और वित्तीय जरूरतों को सही से चलाने के लिए बचत करना बेहद जरूरी होता है। बचत करने से भविष्य में आकष्मिक जरूरतों को पूरी करने में काफी आसानी होती है. लेकिन इन अभी चीजो के बीच सहारा इंड‍िया (Sahara India) में लाखों लोगों के पैसे फंसे हुए हैं. बीते दिनों वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने बताया था कि SEBI को 81.70 करोड़ रुपये में 53,642 मूल बांड प्रमाणपत्र/पासबुक से संबंधित 19,644 आवेदन प्राप्त हुए हैं।

आपको बता दे की सरकार ने कहा भी था कि बाकी के बचे आवेदनों के रिकॉर्ड SIRECL और SHICL द्वारा उपलब्ध कराए गए दस्तावेजों में ट्रेस नहीं हो रहा है। आपको बता दें कि सहारा ने लोगों के 25,000 करोड़ रखने का आरोप सेबी पर लगाया है। यह बात पहले भी सहारा की ओर से कही गयी थी। सहारा ने पत्र में अंकित किया कि वे भी सेबी से परेशान है। सहारा का कहना है कि पैसा सहारा ने नहीं बल्कि सेबी ने रखा है। वहीं सेबी इस संबंध में कई बार सफाई दे चुका है।

जानकारी के लिए बता दे की राजनांदगांव के कलेक्टर तरण प्रकाश सिन्हा ने राजनांदगांव जिले के निवेशकों को सहारा इंडिया कंपनी से मिले 15 करोड़ रुपये लौटाने के लिए तीन सदस्यों की कमेटी गठित की है। समिति में अपर कलेक्टर अध्यक्ष एवं जिला कोषाध्यक्ष एवं नगर पुलिस अधीक्षक को सदस्य बनाया गया है। सहारा इंडिया इन्वेस्टर्स कमेटी को जिले के निवेशकों की सूची कंपनी के प्रतिनिधियों से प्राप्त हो रही है।