apanabihar.com 49

देश के हर घर में सरसों का तेल उपयोग होता होगा. खास बात यह है की आम लोगों को सरसों के तेल क महगाई से राहत मिली है. तेल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और इन बढ़ते दामों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। बता दे की अगर आप सरसों का तेल खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए ये काम की खबर है। 10 से 20 रुपये प्रति लीटर की गिरावट आई है। सरकार की ओर से आयात शुल्क हटाने और इंडोनेशिया द्वारा पाम ऑयल का निर्यात शुरू किए जाने के बाद से लगातार कमी आ रही है। और माना जा रहा है कि इसी तरह आगे भी कम होने की उम्मीद है |

Also read: Good news for those going from UP-Bihar to Delhi, know the train timings

सब्जी मसालों की कीमत में नहीं दिख रही गिरावट

खास बात यह है की अगर हल्दी को छोड़ दिया जाएगा तो बाकी मसालों की कीमतों में बीते वर्ष के मुकाबले करीब 70 फीसदी तक की तेजी आई है। वहीं, स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि बाजार में तेजी है, लेकिन ग्राहकों की संख्या में भी बड़ी कमी आई है। सरकार ने बढ़ती महंगाई को देखते हुए बीते महीने खाद्य तेल के आयात पर लगने वाले शुल्क को हटा लिया था और सोयाबीन और सूरजमुखी के 40 लाख टन तेल का आयात ड्यूटी फ्री करने की बात कही थी।

Also read: Railway News: Layout of more than 40 stations including Faridabad, Muzaffarnagar, Gurugram will change, know…

खाद्य तेल की कीमतों में दो सप्ताह में आई गिरावट

Also read: Good news for the people of Bihar, special train for Katra-Ayodhya will run from this district

  • तेल 18 मई 4 जून
    सोयाबीन तेल 180 165
  • सरसों तेल 185 170
    तिल का तेल 320 300
  • मूंगफली का तेल 200 180

आपको बता दे की इससे कीमतों पर असर पड़ा है। खारी बावली के व्यापारी हेमंत गुप्ता कहते हैं कि जैसे ही सरकार ने आयात शुल्क हटाने का ऐलान किया तो उसके बाद से ही कीमतों में नरमी आनी शुरू हो गई थी। उधर, इंडोनेशिया ने भी पाम ऑयल के निर्यात पर लगी रोक हटा ली है, जिसके बाद पाम ऑयल की सप्लाई शुरू हो गई है।

Also read: Railway News: Now Delhi-Bathinda Express train will stop at Bahadurgarh station, Railways said, know the complete news.

Raushan Kumar is known for his fearless and bold journalism. Along with this, Raushan Kumar is also the Editor in Chief of apanabihar.com. Who has been contributing in the field of journalism for almost 4 years.