भारतीय रेल में सफ़र करते समय ले गए अधिक समान तो पड़ सकता है आपके जेब पर असर जाने नियम?

जैसा की हम सब जानते है की भारतीय रेलवे (Indian Railway) में करोड़ों की संख्या में यात्री डेली ट्रैवल करते हैं. ऐसे में यात्रियों के लिए रेलवे हर दिन नए प्रयास करता है. रेलवे देश के आम लोगों की लाइफलाइन है. यात्रियों को अब अधिक समान ले जाने पर ज्यादा पैसा लगेंगे। रेलवे के नए नियम के अनुसार यदि यात्री के पास अधिक है सामान है तो उसके लिए अलग से बुकिंग करवानी होगी। रेलवे द्वारा बताया गया है कि यात्रियों के अधिक सामान हो जाने से अन्य लोगों को सफल करने में काफी परेशानी होती है।

खास बात यह है की भारतीय रेल मंत्रालय ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लोगों से सफर के दौरान जरूरत से ज्यादा सामान लेकर सफर न करने की सलाह दी है। मंत्रालय ने कहा, अगर सामान होगा ज्यादा, तो सफर का आनंद होगा आधा! अधिक सामान ले कर रेल यात्रा ना करें। सामान अधिक होने पर पार्सल कार्यालय जा कर लगेज बुक कराएं।

यह भी पढ़ें  PACL Chit Fund Refund: पैसा लगाने वालों को ऐसे वापस मिलेगा रिफंड, SEBI ने जारी किया नया आदेश

आपको बता दे की रेलवे के नियमों के मुताबिक, यात्री ट्रेन के सफर के दौरान 40 से 70 किलोग्राम तक ही सामान लेकर यात्रा तक सकते हैं। अगर कोई इससे ज्यादा सामान लेकर यात्रा करता है, तो उसे अलग से किराया देना होगा। दरअसल रेलवे के कोच के हिसाब से सामान का वजन अलग निर्धारित है।

रेलवे के अनुसार, यात्री सेकंड क्लास में 25 किलो, स्लीपर क्लास में अपने साथ 40 किलोग्राम तक सामान ले जा सकते हैं। वहीं एसी टू टीयर तक 50 किलो सामान ले जाने की छूट है। जबकि फर्स्ट क्लास एसी में 70 किलो तक सामान यात्री ले जा सकते हैं। लगेज का मिनिमम चार्ज ₹30 है। दूरी के अनुसार ये बढ़ता घटता रहेगा।

यह भी पढ़ें  मोदी सरकार का बड़ा फैसला: पेट्रोल 9.5 रुपये और डीजल 7 रुपये होगा सस्ता, LPG पर 200 रुपये की राहत