सहारा इंडिया : नया खाता एवं रिनुअल पर अदालत ने लगा दी रोक, कर्मी पहुंचे एसपी के पास, बोले-मेरी रक्षा करें

Sahara India Investor’s Refund Status 2022 : अपने खर्चों और वित्तीय जरूरतों को सही से चलाने के लिए बचत करना बेहद जरूरी होता है। बचत करने से भविष्य में आकष्मिक जरूरतों को पूरी करने में काफी आसानी होती है. लेकिन इन अभी चीजो के बीच सहारा इंड‍िया (Sahara India) में लाखों लोगों के पैसे फंसे हुए हैं. सहारा इंडिया के कार्यकर्ताओं ने नवगछिया एसपी को आवेदन देकर सुरक्षा की गुहार लगाई।

आपको बता दे की सहारा इंडिया परिवार सेवा केंद्र नवगछिया (जिला-भागलपुर), फ्रेंचाइजी कार्यालय झंडापुर एवं फ्रेंचाइजी कार्यालय मथुरापुर नारायणपुर के सहारा इंडिया कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधीक्षक नवगछिया से मिलकर सुरक्षा के लिए आवेदन दिया है। आवेदन में कार्यकर्ताओं ने बताया है कि सहारा सेबी विवाद सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन है। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशानुसार सहारा ग्रुप पर प्रतिबंध लगा हुआ है।

खास बात यह है की उच्चतम न्यायालय दिल्ली के निर्देशानुसार नया खाता एवं रिनुअल पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इस कारण पूरे भारत सहित क्षेत्र के जमाकर्ताओं का भुगतान विलंबित होता जा रहा है। प्रतिबंध के कारण जमा और भुगतान का कार्य प्रभावित है। इस कारण जिनका रुपया सहारा इंडिया में जमा है, उन्‍हें वापस देने करने में परेशानी हो रही है। प्रतिदिन लोग आकर धमकी देते हैं। जिनके रुपये की अवधि पूरी हो गई है, ऐसे लोग यहां प्रतिदिन आते हैं। रुपये की मांग करते हैं। जब उन्‍हें सारी बातों की जानकारी दी जाती है और कहा जाता है कि जैसे ही रुपया आएगा आपको मिल जाएगा, कहने के साथ ही लोग भड़क उठते हैं।

बताते चले की नवगछिया के प्रमोद कुमार जायसवाल, संजय कुमार, नीरज, फ्रेंचाइजी झंडापुर के संजीव कुमार ने बताया कि सैकड़ों कार्यकर्ता कई महीन से बेरोजगार हैं। जमाकर्ता रुपये की निकासी के लिए कार्यकर्ताओं से दुर्व्‍यवहार कर रहे हैं। इसलिए हमें सुरक्षा देने की कृपा करें।