Post Office की फ्रैंचाइजी लेकर कैसे कमा सकते हैं लाखों, पढ़िए पूरा नियम कानून

अपने खर्चों और वित्तीय जरूरतों को सही से चलाने के लिए बचत करना बेहद जरूरी होता है। बचत करने से भविष्य में आकष्मिक जरूरतों को पूरी करने में काफी आसानी होती है. खास बात यह है की मामूली निवेश के साथ आप पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइजी खोल सकते हैं. इससे आप कई तरह से पैसा कमा सकते हैं.

आपको बता दे की पोस्ट ऑफिस की फ्रैंचाइजी के लिए शुरू में आपको बस 5000 रुपए की जरूरत होगी. देश में डेढ़ लाख से ज्यादा पोस्ट ऑफिस की शाखाएं हैं. इसके बावजूद अभी और नए ब्रांच की जरूरत है. पोस्ट ऑफिस दो प्रकार के फ्रैंचाइज़ी मॉडल पेश करता है, – फ्रैंचाइज़ आउटलेट और पोस्टल एजेंट. फ्रैंचाइजी लेने के लिए डाकघर से ही फॉर्म लेकर आवेदन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें  Sahara India : सहारा के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी कम्पनी ने बताई कहाँ गई जनता के पैसा?

योग्यताएं 

  • आयु का नियम : फ्रेंचाइजी लेने वाले व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए.
  • राष्ट्रीयता : भारत के किसी भी नागरिक द्वारा पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी ली जा सकती है.
  • शैक्षिक योग्यता : व्यक्ति को किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से कक्षा 8 पास होना चाहिए.

कैसे और कितनी होती है कमाई

  • पंजीकृत वस्तुओं की बुकिंग के लिए, प्रति लेनदेन 3 रुपये का कमीशन निर्धारित किया गया है.
  • स्पीड पोस्ट लेखों की बुकिंग के लिए, प्रति लेनदेन कमीशन 5 रुपये है.
  •  मनी ऑर्डर के लिए, 100 रुपये से 200 रुपये के बीच मनी ऑर्डर की बुकिंग पर 3.50 रुपये कमीशन मिलता है. वहीं, 200 रुपये से ऊपर के मनी ऑर्डर पर प्रति लेनदेन 5 रुपये कमीशन मिलेगा. फ्रैंचाइजी एजेंट 100 रुपये से कम के मनीआर्डर बुक नहीं करेंगे.
  • 1000 पंजीकृत और स्पीड पोस्ट बुकिंग के मासिक लक्ष्य को प्राप्त करने से 20 फीसदी का अतिरिक्त कमीशन प्राप्त होगा.
  • डाक टिकट और स्टेशनरी की बिक्री पर बिक्री राशि का 5 फीसदी कमीशन निर्धारित किया जाता है.
  •  राजस्व टिकटों, केंद्रीय भर्ती शुल्क टिकटों आदि की बिक्री सहित खुदरा सेवाओं के लिए, डाक विभाग द्वारा अर्जित आय का 40 फीसदी कमीशन निर्धारित किया जाता है. इस राशि को रुपये में 40% या उससे कम पर पूर्णांकित किया जाएगा.
यह भी पढ़ें  बिहार के डाकघरों में अगले माह से मिलेगी इ-बैंकिंग की सुविधा, इ-पेमेंट करना होगा आसान