सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के 600 ब्रांच होंगे बंद, संपत्ति की भी बिक्री, समझें क्या है संकट

यदि आप देश के सबसे लोकप्रिय बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक हैं तो ये खबर आपके लिए जरूरी है। बता दे की मार्च 2023 तक बैंक अपने कई ब्रांचेज को बंद या विलय करने वाला है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में ये दावा किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक बैंक अपने वित्तीय सेहत में सुधार के लिए 13 फीसदी शाखाओं को बंद करने की योजना बना रहा है।

खास बात यह है की देश के सबसे लोकप्रिय बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया मार्च 2023 के अंत तक घाटे में चल रही शाखाओं को बंद या विलय करके शाखाओं की संख्या को 600 तक कम करने की योजना है। यह बैंक द्वारा अपने वित्तीय सेहत में सुधार के लिए सबसे कठोर कदम बताया जा रहा है। इसके बाद बैंक की रियल एस्टेट जैसी गैर-प्रमुख संपत्तियों की बिक्री की योजना पर काम किया जा सकता है। 100 साल से अधिक पुराने इस बैंक के पास वर्तमान में 4,594 शाखाओं का नेटवर्क है।

यह भी पढ़ें  जानिए क्यों अचानक से SBI, HDFC बैंक समेत दूसरे बैंक बढ़ा रहे हैं एफडी की ब्याज दरें

आरबीआई ने की थी कार्रवाई: आपके जानकारी के लिए बता दे की साल 2017 में सेंट्रल बैंक के साथ अन्य 12 बैंकों को आरबीआई की त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) के तहत रखा गया था। आरबीआई ने बैंक की वित्तीय सेहत में गड़बड़ी को देखते हुए ये कार्रवाई की थी। तब से सेंट्रल बैंक को छोड़कर सभी उधारदाताओं ने अपने वित्तीय सेहत में सुधार किया है और आरबीआई की पीसीए सूची से बाहर आ गए हैं। सेंट्रल बैंक को अब भी संघर्ष करना पड़ रहा है।