महंगाई का एक और झटका: थोक डीजल के दाम बढ़कर 122 रुपये प्रति लीटर तक आए

देश में तेल के बढ़े दामो से लोग काफी परेसान है. रूस-यूक्रेन युद्ध (Russia Ukraine War) के कारण वैश्विक बाजार (International Market) में कच्चे तेल (Crude Oil) की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. खबरों की माने तो तेल कंपनियों ने थोक ग्राहकों के लिए डीजल के रेट 25 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिए हैं. थोक ग्राहकों में मॉल और बस ऑपरेटर जैसे खरीदार शामिल हैं. इनके लिए मुंबई में नए रेट 122.05 रुपये और दिल्ली में 115 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. रिटेल प्राइज में फिलहाल बढ़ोतरी नहीं की गई है.

थोक खरीदारों को झटका- 122 रुपये प्रति लीटर हुआ डीजल का दाम : आपको बता दे की मुंबई मे आम जनता के लिए डीजल के दाम 94 रुपये के करीब है तो थोक खरीददारों के लिए ये दाम 122 रुपये हो गया है. खास बात यह है की दिल्ली में डीजल के दाम 86 रुपये 67 पैसे है तो थोक खरीददारों के लिए 115 रुपये हो गया है. इसे यूक्रेन युद्ध का असर माना जा रहा है.

आर्थिक मामलों के जानकार सुनील शाह का क्या है कहना : मीडिया रिपोर्ट की माने तो थोक ग्राहक के लिए डीजल के दाम 25 रुपये बढ़ने से सबसे पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट और परिवहन करने वाले वाहनों के लिए दाम बढ़ने के रूप में इसका असर देखा जाने वाला है. बताया जा रहा है की इसका सीधा असर उत्पादों की ढुलाई के महंगे होने के रूप में आएगा. हालांकि इनके असर से रिटेल उत्पाद कितने महंगे होंगे, ये कुछ समय तक देखना होगा.