अच्छी खबर : आज से ट्रेनों में मिलेंगे जनरल टिकट, देखें सरकार ने किन ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी

भारतीय रेलवे की तरफ से बहुत ही बड़ी खुशी की खबर सामने आ रही है. बता दे की होली से पहले सरकार ने रेल यात्रियों को बड़ा तोहफा दिया है. करीब कोरोनाकाल में बंद की गई जनरल टिकट बुकिंग की सुविधा दोबारा शुरू की जा रही है. भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने बताया है कि 11 मार्च से देश की कई ट्रेनों में लोग जनरल टिकट पर यात्रा कर सकेंगे.

आपको बता दे की महामरी को रोकने के लिए रेलवे ने जनरल डिब्‍बों को भी आरक्षित श्रेणी में बदल दिया था. अब परिस्थितियां दोबारा सामान्‍य होने पर जनरल बोगियां शुरू की जा रही हैं. पश्चिम रेलवे ने अपने अधीन चलने वाली ज्‍यादातर ट्रेनों में जनरल टिकट पर सफर को मंजूरी दे दी है. अब जबलपुर, भोपाल से हावड़ा जाने वाली ट्रेनों में भी जनरल टिकल मिलेगा. राजस्‍थान, दिल्‍ली से सफर करने वालों के लिए भी जनरल टिकट की व्‍यवस्‍था बहाल हो गई है.

यह भी पढ़ें  Facebook ने बिहार की अदिति को दिया 1.6 करोड़ का पैकेज, जानें कैसे मिला उन्हें ये ऑफर

पूरी तरह सुधार में डेढ़ महीने लगेंगे : वही इस पर रेल अधिकारियों का कहना है कि जनरल टिकट पर यात्रा को दोबारा पूरी तरह पटरी पर आने में करीब डेढ़ साल का समय लगेगा. महामारी में इन बोगियों को रिजर्व बोगी में बदल दिया गया था जिस पर यात्रियों की लंबी वेटिंग चल रही है. जब तक वेटिंग की समस्‍या खत्‍म नहीं होती, सभी जनरल बोगियों में यात्रा सामान्‍य नहीं हो सकेगी.

रेलवे ने कैंसिल की दर्जनों ट्रेनें : बताया जा रहा है की विभिन्‍न कारणों से रेलवे ने आज कुल 282 ट्रेनों को कैंसिल किया है, जबकि 9 ट्रेनों को री-शिड्यूल किया गया है. इसके अलावा 12 ट्रेनों का रूट भी रेलवे ने डायवर्ट कर दिया है. इसका मतलब है कि ये ट्रेनें अब अपने पुराने निर्धारित रूट से यात्रा नहीं करेंगी. अगर आप भी इस ट्रेन से सफर करने वाले हैं, तो अब जानकारी लेकर ही स्‍टेशन पर जाएं.

  • ऐसे चेक करें कैंसिल और डायवर्ट ट्रेनों की लिस्‍ट
  • सबसे पहले enquiry.indianrail.gov.in/mntes/ की वेबसाइट पर जाएं.
  • यहां आपको Exceptional Trains ऑप्शन दिखेगा.
  • इसे चुनकर कैंसिल, री-शिड्यूल और डायवर्ट ट्रेनों की लिस्ट पर क्लिक करें.
  • अपनी ट्रेन का नंबर और नाम दोनों के जरिये ही आप कैंसिल या रूट बदलने वाली ट्रेनों की लिस्‍ट देख सकेंगे.
यह भी पढ़ें  सहारा इंडिया: बोले निवेशक- 'नहीं होता और इंतजार, दिलवा दीजिए फंसे पैसे'