जानिये मंडी का भाव : सोयाबीन, सरसों और मूंगफली तेल की कीमतों में तेजी, कच्चे पाम तेल में गिरावट

विदेशो की बाजार में तेजी के बीच कच्चे पाम तेल पर सीमा शुल्क में कटौती से दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में सोमवार को इसकी कीमतों में गिरावट दर्ज की गई। वहीं हल्के तेलों की मांग बढ़ने से सोयाबीन, सरसों और मूंगफली तेल की कीमतें मजबूत रही। जानकारी के अनुसार आपको बता दे कि मलेशिया एक्सचेंज में जहां 1.75 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई, वही शिकागो एक्सचेंज स्थिर स्तर पर है।

आपको बता दे की उन्होंने बताया कि मलेशियाई बाजार में तेजी के बीच सरकार के कच्चे पाल तेल पर सीमा शुल्क को 280 रुपये क्विंटल घटाने के निर्णय से खाद्य तेल उद्योग को राहत मिलेगी। सूत्रों ने कहा कि कच्चे पाम तेल पर सीमा शुल्क घटाने से इसका आयात थोड़ा बढ़ेगा। जबकि पामोलिन तेल का आयात कम होगा और यहां के उद्योग के चलेंगे।

यह भी पढ़ें  Edible Oil Price: सोयाबीन-मूंगफली समेत कई खाने के तेल हुए सस्ते, चेक करें लेटेस्ट रेट्स

खास बात यह है की वही बाजार में पुरानी सरसों न के बराबर है, जिससे इसकी कीमतों में वृद्धि हुई है। सरसों दाने की आवक अगले महीने बढ़नी शुरू हो जाएगी। इस बीच, कांडला डिलिवरी की कीमत 1595 डॉलर प्रति टन के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। ऐसे में सरकार को घरेलू तिलहन उद्योग को बढ़ावा देना चाहिए, जिससे देश की खाद्य तेल के आयात पर निर्भरता कम होगी, किसानों की आमदनी और रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

बाजार में थोक भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

 सरसों तिलहन – 8400-8430 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये।
 मूंगफली – 5,875 – 5,970 रुपये। 
 मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 13,050 रुपये।
 मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 2050 – 2,225 रुपये प्रति टिन। 
 सरसों तेल दादरी- 16,700 रुपये प्रति क्विंटल। 
 सरसों पक्की घानी- 2465-2515 रुपये प्रति टिन।  
 सरसों कच्ची घानी- 2665-2760 रुपये प्रति टिन। 
 तिल तेल मिल डिलिवरी – 16,700-18,200 रुपये।  
 सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 14,200 रुपये। 
 सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 13,870 रुपये। 
 सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 12,800।     
 सीपीओ एक्स-कांडला- 12,000 रुपये। 
 बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 12,950 रुपये।