BCCI से जल्द होगी अध्यक्ष सौरव गांगुली की छुट्टी? भारतीय क्रिकेट में होंगे ये बड़े बदलाव

टीम इंडिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने हाल ही में टेस्ट कप्तानी से इस्तीफा देकर वर्ल्ड क्रिकेट को हैरान कर दिया. फैंस विराट कोहली के इस फैसले के पीछे BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का हाथ मान रहे हैं. कोहली के टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के बाद फैंस ने सोशल मीडिया पर सौरव गांगुली को जमकर निशाने पर लिया. कई फैंस ने सौरव गांगुली के बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की मांग भी की. 

आपको बता दे की पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष पद से हट सकते हैं. उनके अलावा बोर्ड सचिव जय शाह (Jay Shah) का 3 साल का कार्यकाल अक्टूबर-2022 में खत्म होना है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि क्या इन दोनों की जगह बोर्ड का कोई नया अध्यक्ष और सचिव बनता है या गांगुली-शाह को ही फिर से जिम्मेदारी मिलेगी. गांगुली को अक्टूबर-2019 में बीसीसीआई का अध्यक्ष बनाया गया था, जिससे पहले वह बंगाल क्रिकेट संघ के चीफ के तौर पर जिम्मेदारी संभाल रहे थे

यह भी पढ़ें  IPL 2022 में खेले जाएंगे 70 लीग मुकाबले, मुंबई-पुणे में ही भिड़ेंगी टीमें, जानिए कब होगा शुरू?

बताया जा रहा है की बीसीसीआई के नए संविधान के अनुसार, राज्य संघ या बोर्ड में छह साल के कार्यकाल के बाद तीन साल के कूलिंग ऑफ पीरियड पर जाना अनिवार्य है। गांगुली और शाह ने 2019 अक्टूबर में पदभार संभाला था और तब उनके राज्य और राष्ट्रीय इकाई में छह साल के कार्यकाल में केवल 9 महीने बचे थे। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा गया था कि पिछले साल हुई एजीएम में 9 अगस्त 2018 से लागू कूलिंग ऑफ पीरियड में जाने के नियम में संशोधन कर अपने पदाधिकारियों के कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दे दी है।

बता दे की इन उपलब्धियों के अलावा सौरव गांगुली बड़े विवादों का हिस्सा भी बने. सौरव गांगुली और विराट के संबंधों पर भी खूब चर्चा हुई. विराट कोहली ने दावा किया था कि उनसे टी-20 कप्तानी को लेकर बोर्ड की ओर से किसी तरह की कोई बातचीत नहीं की गई थी. वहीं, गांगुली ने कहा कि उन्होंने विराट से टी-20 कप्तानी ना छोड़ने को लेकर अनुरोध किया था.

यह भी पढ़ें  RCB के लिए अच्छी खबर, टीम से जुड़े ग्लेन मैक्सवेल; जानें कब खेलेंगे पहला मैच