थोक महंगाई दर में आई गिरावट, जानिये कौन से सेगमेंट में कितना हुआ बदलाव

थोक महंगाई दर (Wholesale Price Index – WPI) में दिसंबर 2021 में मामूली गिरावट आई है. बता दे की दिसंबर महीने के लिए होलसेल प्राइस इंडेक्स 13.56 फीसदी रहा है. यह नवंबर महीने के 14.23 फीसदी था. इसका मतलब इस बार .67 प्‍वाइंट कम है. वहीं दिसंबर 2020 में थोक महंगाई दर महज 1.95 फीसदी रही थी. दिसंबर थोक महंगाई दर में कमी का मुख्‍य कारण होलसेल फ्यूल और पावर इन्‍फ्लेशन में कमी आना रहा. नंवबर में यह जहां 39.81 फीसदी थी जो दिसंबर में गिरकर 32.30 फीसदी रह गई.

आपको बता दे की दिसंबर में मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स सेगमेंट में महंगाई दर 10.62 फीसदी रही, जबकि नवंबर में यह 11.92 फीसदी रही थी. फल एवं सब्‍जी सेगमेंट में महंगाई दर 31.56 फीसदी रही, जबकि नवंबर में यह महंगाई 3.91 फीसदी रही थी. अंडा, मीट, फिश सेगमेंट में महंगाई दर 6.68 फीसदी रही, जबकि नवंबर में यह महंगाई 9.66 फीसदी रही थी.

खुदरा महंगाई दर बढ़ी : बताया जा रहा है की राष्ट्रीय सांख्यकी कार्यालय (एनएसओ) ने तीन दिन पहले बताया था कि दिसंबर 2021 में खुदरा महंगाई दर में बढ़ोतरी हुई है. खास बात यह है की देश में खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से खुदरा महंगाई दर दिसंबर के महीने में पांच महीने के उच्चतम स्तर 5.59 फीसदी पर पहुंच गई. पिछले महीने अर्थात नवम्बर में यह 4.91 फीसदी थी. इसके अलावा, भारत के कारखानों के उत्पादन में भी 1.4 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है.

जानकारी के अनुसार उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा मुद्रास्फीति नवंबर, 2021 में 4.91 प्रतिशत और दिसंबर, 2020 में 4.59 प्रतिशत थी. राष्ट्रीय सांख्यकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, दिसंबर में खाद्य मुद्रास्फीति बढ़कर 4.05 प्रतिशत हो गई, जो इससे पिछले महीने 1.87 प्रतिशत थी.