अच्छी खबर: रेलवे की जमीन पर शुरू हुआ मुनाफे का काम, सालों से खाली पड़ी थी 36 हेक्टेयर जमीन

रेलवे की खाली पड़ी जमीन पर चहारदीवारी बनाने का काम शुरू हो गया है। बता दे की उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के श्यामगंज मालगोदाम और उसके आसपास की जमीन सालों से बेकार पड़ी थी। पूर्वोत्तर रेलवे को इससे किसी प्रकार का मुनाफा नहीं हो रहा था। जानकारी के लिए बता दे की सात साल पहले 36 एकड़ में फैली इस जमीन को रेल भूमि विकास प्राधिकरण को हस्तानांतरित कर दिया गया था। 36 हेक्टेयर जमीन आरएलडीए ने रिद्धि-सिद्धि कंस्ट्रक्शन लिमिटेड समेत तीन अन्य कंस्ट्रक्शन कंपनियों को 99 साल की लीज पर दे दिया। अब आवासीय योजना के जरिए इस भूमि को विकसित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें  सहारा इंडिया के निवेशकों को मिलेंगे सूद समेत पुरे पैसे, भुगतान को लेकर पटना हाईकोर्ट ने दिया आदेश

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शाहदाना स्थित रेलवे की 14 हेक्टेयर जमीन को पहले चरण में विकसित किया जाना है। रेल ग्राउंड में कमर्शियल और आवासीय योजना के तहत प्लाटिंग होगी। आपको बता दे की उत्तर दिशा से जमीन को खाली कराकर निर्माण कार्य शुरू हुआ है। जिसकी शुरूआत जमीन के चारों तरफ टीन शेड की फेंसिंग करने के लिए जमीन को खोदकर लोहे के एंगल खड़े किए जा रहे हैं। रेलवे के ठेकेदार अजय अग्रवाल और अरविंद अग्रवाल ने शुक्रवार से शुरुआत कराई।

आपको बता दे की पहले चरण में 380 मीटर की बाउंड्रीवाल की जा रही है, जिसके लिए करीब 3 हजार वर्ग मीटर टीन शेड लगाए जाने हैं। जमीन में जितने भी कब्जे हैं, उनको खाली कराने को नोटिस कार्रवाई की जा चुकी है। रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि इंजीनियरिंग विभाग द्वारा एक दुकानदार को अनाधिकृत कब्जे के लिए नोटिस दिया गया है। बाकी जो भी अवैध कब्जे हैं उनको हटाने के लिए भी धीरे-धीरे कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें  यात्रीगण कृपया ध्यान दें : रेलवे ने टिकट बुकिंग के नियमों में किया बड़ा बदलाव! यात्रियों को मिलेगी ये सुविधा