PM Modi ने महिलाओं के खाते में ट्रांसफर किए 4000 रुपये, जानें आपके अकाउंट में आया है पैसा या नहीं?

देश की आधी आबादी को नए साल का गिफ्ट (new year gift) मिल गया है. यदि आपने भी अभी तक अपना अकाउंट चैक नहीं किया है तो तत्काल चैक करें. जानकारी के मुताबिक केन्द्र की मोदी सरकार ने सेल्फ हेल्प ग्रुप में करीब 1000 करोड़ रुपए ट्रांसफर (1000 crore transfer) किए हैं. बता दे की इसके अलावा महिलाओं के खाते में 4000 रुपये भी ट्रांसफर किए हैं. आइए आपको बताते हैं कि किन महिलाओं के खाते में पैसा ट्रांसफर किया गया है.

जानकारी के अनुसार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत सरकार ने बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी योजना शुरु की थी. योजना के तहत महिलाओं को कुछ मानदेय के रूप में धनराशि सरकार (Modi government) की ओर से मिलेगी. साथ ही कुछ पैसा इन महिलाओं को काम के हिसाब से कमीशन के रूप में दिया जाएगा. विभागीय जानकारी के मुताबिक करीब 20000 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी के खाते में 4000 रुपए (4000 rupees) ट्रांसफर किए गए हैं, साथ ही संबंधित महिलाओं को काम करने के लिए ट्रेनिंग अटेंड करने के लिए भी कहा गया है. इस योजना में उत्तर प्रदेश की महिलाएं हिस्सा ले सकती हैं. इस सरकारी योजना से 58000 महिलाओं को रोजगार मिलेगा. महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ योजना का मकसद है गांव-गांव तक बैकिंग सुविधा को पहुंचाना भी है.

यह भी पढ़ें  IND vs SL: रवींद्र जडेजा की 2 महीने बाद टीम इंडिया में वापसी, BCCI को बताई मन की बात

सरकार ने ट्रांसफर किए 4000 रुपये : आपको बता दे की पीएम मोदी ने करीब 20,000 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी (BC Sakhi) के खाते में आज पहला मानेदय दिया है. इसमें सरकार ने 4000 रुपये ट्रांसफर किए हैं. सरकार इन लोगों को 6 महीने के लिए 4000 रुपये का मानदेय देती है. इसके अलावा इनको कमीशन का भी फायदा मिलता है.

कन्या सुमंगल के भी ट्रांसफर किए पैसे ” अगर कन्या सुमंगल योजना की बात करें तो इसके लाभार्थियों को के लिए सरकार ने 20 करोड़ रुपये का फंड निकाला है. बता दें इस राशि को ट्रांसफर करने की शुरुआत हो गई है.

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर: पूर्व मध्य रेल के 24 स्टेशनों पर लगे 80 एटीवीएम, यात्रियों की मिलेगी सहूलियत

कौन बन सकता है बैंक सखी? : बता दे की बैंक सखी बनने के लिए 10वीं पास होना जरूरी है. इसके अलावा उनको ऑनलाइन काम करने के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए. इसके अलावा बैंकिग कामकाज के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए.

ग्रामीण इलाकों में बढ़ेंगी बैंकिग सेवाएं : बताया जा रहा है की इस योजना में यूपी की महिलाएं भाग ले सकती हैं. बता दें इसमें सिर्फ महिलाओं को ही नौकरी दी जाएगी. इस योजना के तहत लगभग 58000 महिलाओं को रोजगार मिलेगा. इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को आगे बढ़ाना हैं और गांव के इलाके में बैंकिग सेवाओं का विस्तार करना है.

यह भी पढ़ें  E- श्रम कार्ड धारकों के खाते में भेजे गए 1000 रुपए, अकाउंट में नहीं आए पैसे तो जल्द करें ये काम जाने डिटेल्स…