Asian Champions Trophy: भारतीय हॉकी टीम ने पाकिस्तान को 4-3 से हराया, ब्रॉन्ज मेडल पर किया कब्जा

भारतीय टीम ने आज एशियन चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट में पाकिस्तान को रोमांचक मुकाबले में 4-3 से शिकस्त दे दी है. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने पाकिस्तान को इस टूर्नामेंट में दूसरी बार हराया है. बताया जा रहा है की भारत के लिए यह जीत बहुत खास है क्योंकि इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने कांस्य पदक पर अपना कब्जा जमा लिया है. आज दोनों ही टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली. पर मैच में भारतीय खइलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 4-3 से मुकाबला अपने नाम कर लिया.

टीम इंडिया के लिए हरमनप्रीत सिंह, सुमित, वरुण और आकाशदीप ने एक-एक गोल किए. वहीं पाकिस्तान के लिए अफराज ने 10वें मिनट में, अब्दुला राणा ने 33वें मिनट में और नदीम ने 57वें मिनट में गोल किया. इस मुकाबले के लिए भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया. एशियन चैंपियंस ट्रॉफी शुरू होने से पहले वह खिताब के दावेदार थे. फिर राउंड रोबिन स्टेज में भी वे सबसे ऊपर रहे थे. उन्होंने एक भी मैच नहीं गंवाया था. लेकिन जापान के खिलाफ सेमीफाइनल मुकालबा गंवा बैठे. इसके चलते भारतीय टीम को यहां भी कांस्य से ही संतोष करना पड़ा. टीम इंडिया ने पिछली बार मस्कट में पाकिस्तान के साथ संयुक्त रूप से यह टूर्नामेंट जीता था लेकिन इस बार जापान के खिलाफ कमजोर खेल ने उसके हाथ से खिताब मुकाबला छीन लिया.

यह भी पढ़ें  पाकिस्तानी खिलाड़ी की LIVE मैच में फटी पैंट... लोग बोले- शुक्र है नीचे कुछ पहना है, देखे विडियो

11 में से केवल 2 पेनल्टी कॉर्नर भुना पाया भारत : जानकारी के अनुसार इस मुकाबले में भारत ने कुल 11 पेनल्टी कॉर्नर हासिल किए लेकिन केवल दो ही गोल में तब्दील हो सके. इस तरह से पेनल्टी कॉर्नर्स को गोल में नहीं बदल पाने की भारत की पुरानी परेशान जारी रही. भारत को जापान के खिलाफ मैच में भी यही गलती ले डूबी थी. वहीं पाकिस्तान को पूरे मैच में चार पेनल्टी कॉर्नर मिले. इनमें से एक पर गोल हुआ.

यह भी पढ़ें  IPL 2022 : BCCI ने 2011 को फॉर्मूला की तरह अपनाया, टीमों को 5 के दो समूहों में बांटा जाएगा