रेलवे ने यहां शुरू की किराए पर ई-बाइक की सुविधा, जानें किराया समेत बाकी डिटेल

दक्षिणी रेलवे ने तिरूचि रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को किराए पर ई-बाइक की सुविधा उपलब्ध कराई है। इसे देखकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग इन सुविधाओं को लेकर जानकारी लेने में लगे रहे। आपको बता दे की तिरुचि रेलवे स्टेशन पर किराए पर ई-बाइक की सुविधा अभी सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक उपलब्ध है। इस सुविधा के हिट रहने की एक वजह यह भी है कि तिरुचि जिले में यह एकमात्र ई-बाइक रेंटल सेवा है।

तिरूची में यह एक मात्र ई-बाइक रेंटल सेवा है: न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, साउदर्न रेलवे से जुड़ी रेंटल कंपनी ने कहा कि वह वर्तमान में प्रति घंटा, दैनिक और साप्ताहिक आधार पर ई-बाइक उपलब्ध करा रही है। लोगों की ओर से प्रति घंटा सेवाओं के लिए अधिक पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें  भारतीय रेल में सफ़र करते समय ले गए अधिक समान तो पड़ सकता है आपके जेब पर असर जाने नियम?

कितना है किराया: ई-बाइक सेंटर 50 रुपये प्रति घंटे की दर से ई-बाइक किराए पर उपलब्ध करा रहा है लेकिन ग्राहकों को 1,000 रुपये का सिक्योरिटी डिपॉजिट जमा करना होगा। साथ ही आधार कार्ड के साथ-साथ ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी भी उपलब्ध करानी होंगी।

किराए पर मिलने वाली ई-बाइक की खासियत : ई-बाइक्स में इनबिल्ट जीपीएस सुविधा है और इन्हें ट्रेस किया जा सकता है। तिरुचि रेलवे स्टेशन पर ई-बाइक रेंटल सर्विस का लाभ वे लोग भी उठा सकते हैं, जो रेलवे के यात्री नहीं हैं। या यूं कहें कि ई-बाइक सुविधा का उपयोग करने के लिए रेल से यात्रा करने की आवश्यकता नहीं है। बताया जा रहा है की ई-बाइक को यदि एक बार चार्ज कर दिया जाए तो यह 130 किमी तक का सफर तय कर सकती है। तिरूचि रेलवे स्टेशन के इंचार्ज के अनुसार वर्तमान में इसे जिले से बाहर लेकर नहीं जाया जा सकता है। बाइक में कोई तकनीकी खराबी आने पर रेलवे स्टेशन स्थित ई-बाइक सेंटर के कर्मचारी मौके पर पहुंचकर उसे ले आएंगे।

यह भी पढ़ें  मछुआरों के जाल में फंसी 55 Kg की तेलिया भोला मछली, रातों-रात कमा लिए 13 लाख