बेहद ताकतवर माना जाता है Mi-17V-5 हेलीकॉप्टर, जिस पर अपने दल-बल के साथ सवार थे CDS रावत; जानें उसके बारे में सबकुछ

तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को एक बड़ा हादसा हुआ है। यहां भारतीय वायुसेना का Mi-17V5 हेलीकाप्टर क्रैश हुआ है। इसमें सीडीएस बिपिन रावत समेत 14 लोग सवार थे। इस हादसे में अब तक कई लोगों के मरने की भी खबर सामने आई है। आपको बता दे की पीएम भी करते हैं इस्तेमाल– यह हेलीकॉप्टर भारतीय रक्षा बलों द्वारा उपयोग किए जाने वाले सबसे शक्तिशाली हेलिकॉप्टरों में से एक है। यह किसी भी मौसम और इलाके में उड़ान भरने के लिए सक्षम है। लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से युक्त इस हेलीकॉप्टर का प्रयोग पीएम से लेकर राष्ट्रपति तक की यात्राओं के लिए किया जाता है।

यह भी पढ़ें  इतिहास में बीए, जामिया मिलिया से कोचिंग, जानें कैसा रहा UPSC टॉपर श्रुति शर्मा का सफर

जानकारी के लिए बता दे की Mi-17 V5, एक मीडियम लिफ्ट हेलिकाप्टर है जिसे जवानों और आर्म ट्रांसपोर्ट, फासर सपोर्ट और खोजने और बचाने के मिशन के लिए डिजाइन किया गया है। बता दें कि दुर्घटनाग्रस्त विमान Mi-17 V5 भारतीय वायुसेना का काफी ताकतवर हेलीकाप्टर माना जाता है। बता दे की इसमें दो इंजन है और देश की बड़ी शख्सियत इस हेलीकाप्टर का इस्तेमाल करते रहे हैं, यहां तक कि प्रधानमंत्रियों द्वारा भी इसको इस्तेमाल में लिया जाता रहा है। रक्षा विशेषज्ञों की नजर में यह हेलीकॉप्टर काफी सुरक्षित माना जाता है। ऐसे में किस वजह से हेलीकॉप्टर क्रैश हुआ ये जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : इन लोगों को सरकार देगी हर साल 3 फ्री सिलेंडर, जल्दी से जानें कैसे मिलेगा फायदा?

रूस में निर्माण: बताया जा रहा है की रूस निर्मित यह हेलीकॉप्टर दुनिया भर में मौजूद सैन्य ट्रांसपोर्ट हेलीकॉप्टर्स के नवीनतम संस्करणों में से एक है। यह रूसी मूल के Mi-8/17 श्रृंखला का हिस्सा है। भारत सरकार ने 2008 में 1.3 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कीमत में 80, MI-17 V5 हेलीकॉप्टरों के लिए रूसी कंपनी से करार किया था। इनमें से पहला हेलीकॉप्टर भारत को 2013 में दिया गया था। जबकि अंतिम बैच 2018 में आया था।