अब चूल्हा जलाना भी हुआ महंगा, 14 साल बाद बढ़ गई माचिस की कीमत

14 साल के अंतराल के बाद अब एक बार फिर माचिस की डिब्बी (Matchbox) का दाम बढ़ने जा रहा है. एक तरफ जहां रोजमर्रा के अन्य सामानों की कीमत बढ़ती जा रही है. वहीं माचिस अकेली चीज है जिसने आपकी जेब हल्की नहीं की. पिछले 14 साल से माचिस की डिब्बी की कीमत को एक बार भी नहीं बढ़ाया गया था.

कितनी बढ़ गई कीमत: टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक अगले महीने यानी 1 दिसंबर से माचिस के दाम 1 रुपए बढ़ जाएंगे। इस बढ़ोतरी के बाद माचिस की नई कीमत 2 रुपए होगी। कीमत में बढ़ोतरी का ये फैसला ऑल इंडिया चैंबर ऑफ मैचेस की बैठक में लिया गया। आपको बता दें कि इस बैठक में पांच प्रमुख माचिस उद्योग निकायों के प्रतिनिधि शामिल थे। इन्होंने सर्वसम्मति से माचिस के दाम बढ़ाने का फैसला लिया है। 

यह भी पढ़ें  अब और होगी जेब ढीली: तेल की कीमतों में तेज उबाल, यह बड़ा कदम भी नहीं आया काम

इस कीमत को बढ़ाने का फैसला गुरुवार को शिवकाशी में ऑल इंडिया चैंबर ऑफ मैचेस (All India Chamber of Matches) की बैठक में लिया गया. निर्माताओं ने कहा कि माचिस बनाने के लिए 14 कच्चे माल की जरूरत होती है. वहीं 14 साल बाद कीमत को बढ़ाने का कारण बताते हुए उद्योग के प्रतिनिधियों ने कहा कि देश में कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि हुई है जिसके कारण माचिस के कीमत को भी बढ़ाया गया है. माचिस बनाने में इस्तेमाल होने वाले एक किलोग्राम लाल फास्फोरस (Red Phosphorus) की कीमत अब 425 रुपये से बढ़ाकर 810 रुपये कर दी गई है. साथ ही 10 अक्टूबर से कागज, स्प्लिंट्स, पोटेशियम क्लोरेट और सल्फर की कीमत में भी को भी बढ़ाया गया है. 

यह भी पढ़ें  क्या सहारा इंडिया में फंसे हैं आपके पैसे? कंपनी ने बताया-कहां गई न‍िवेशकों की रकम