खुशखबरी: भारत और नेपाल के बीच इन रूट से शुरू होगी ट्रेन सेवा, बिहार के जयनगर से कुर्था तक चलेगी ट्रेन

बिहार के जयनगर के राश्ते भारत और नेपाल के बीच जल्द ही पटरी पर ट्रेन दौड़ेगी | बिहार के जयनगर से ट्रेन लाइन नेपाल से जोड़ी जा चुकी है | भारत से नेपाल जोड़ने का प्रोजेक्ट लगभग 619 करोड़ रुपये लागत से भारत-नेपाल मैत्री रेल परियोजना के तहत पहले चरण का काम तेजी से हो रहा है. रविवार को समस्तीपुर (बिहार) मंडल के जयनगर और नेपाल के कुर्था के बीच ट्रैक पर ट्रेन का स्पीड ट्रायल हुआ |

भारत को नेपाल से रेलवे लाइन जोड़ने के लिए भारतीय दूतावास द्वारा जारी बयान के अनुसार, दोनों पक्षों ने बिहार के जयनगर-कुर्था खंड पर यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करने के लिए एसओपी और रक्सौल और काठमांडू के बीच प्रस्तावित ब्रॉड गेज रेलवे लाइन के अंतिम स्थान सर्वेक्षण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। भारतीय रेलवे क्षेत्र में चल रहे सीमा पार रेलवे लिंक और समग्र द्विपक्षीय सहयोग के कार्यान्वयन की समीक्षा करने के लिए, 6-7 अक्टूबर को नई दिल्ली में पांचवें संयुक्त कार्य समूह और 7 वीं परियोजना संचालन समिति की बैठकों के दौरान गुरुवार को समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।

यह भी पढ़ें  बैंक की नौकरी छोड़ शुरू की मेंथा की खेती, अब हो रही 5 गुना ज्यादा कमाई, पिता के साथ बेटा भी कर रहा मदद

भारतीय पक्ष में, JWG का नेतृत्व रेल मंत्रालय के कार्यकारी निदेशक, यातायात परिवहन-माल, डॉ मनोज सिंह, और PSC विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव, DPA-III, अनुराग भूषण द्वारा किया गया था, और नेपाली पक्ष का नेतृत्व किया गया था। भौतिक अवसंरचना एवं परिवहन मंत्रालय में संयुक्त सचिव केशव कुमार शर्मा दोनों बैठकों में मौजूद रहे।

भारतीय रेलवे के मुताबिक, ट्रायल के बाद 21 जुलाई को इरकॉन इंटरनेशनल, दिल्ली मुख्यालय के कार्यकारी निदेशक सुरेंद्र सिंह नेपाल की राजधानी काठमांडू में परियोजना के पहले फेज के पूर्ण काम को नेपाल सरकार को हैंडओवर करेंगे. ट्रेन परिचालन को लेकर नेपाल सरकार ने कोंकण रेलवे, भारत से 2 डीएमयू ट्रेन पूर्व में खरीद कर ली है, जो नेपाल में कई महीनों से लगी हुई है. चालक, गार्ड और अन्य रेल कर्मियों को प्रशिक्षित किया जा चुका है. उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही ट्रैक पर ट्रेनें दौड़ेंगी.

यह भी पढ़ें  बिहार में बदलेगा मौसम का मिजाज, बारिश दिलाएगी गर्मी से राहत, जानें विभाग का ताजा अपडेट