Shardiya Navratri 2021: इस साल शारदीय नवरात्रि पर वैधृति समेत बन रहे कई विशेष संयोग, जानिए महत्व

हिन्दू धर्म में दुर्गा पूजा बहुत ही महतवपूर्ण है | खास कर यह महोत्सव पुरे देश भर में लोग बहुत धूम धाम से मनाते है | हिंदू धर्म में मां दुर्गा को शक्ति का प्रतीक माना गया है | इस साल दुर्गा पूजा की शुरुआत 07 अक्टूबर 2021 से आरंभ होगा है | 15 अक्टूबर 2021 को समाप्त होगा | इस साल नवरात्रि में कई खास संयोग बन रहे हैं। नवरात्रि में पांच रवियोग के साथ सौभाग्य योग और वैधृति योग बन रहा है। नवरात्रि में शुभ योग में नए कार्यों की शुरुआत बेहद उत्तम माना जाता है। मान्यता है कि शुभ योग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है।

यह भी पढ़ें  LPG सिलेंडर पर मिलेगी ₹200 की सब्सिडी, उज्ज्वला योजना के 9 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा फायदा

इन कार्यों के लिए शुभ समय-

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, पितृ पक्ष के दौरान कोई भी नया काम शुरू करना या वाहन खरीदना शुभ नहीं माना जाता है। लेकिन इसके बाद शुरू होने वाले नवरात्रि में मांगलिक कार्यों व शुभ कार्यों को उत्तम माना जाता है। नवरात्रि के दौरान शुरू किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है।

इस साल नवरात्रि में दो सौभाग्य योग, एक वैधृति योग और 5 रवि योग बन रहे हैं। जिसके चलते नए कार्यों की शुरुआत, वाहन या भूमि खरीदना शुभ रहेगा।

घटस्थापना कैसे करें-

1. नवरात्रि के पहले दिन सुबह जल्दी उठकर नहाएं।
2. स्वच्छ वस्त्र धारण करने के बाद कलश को पूजा घर में रखें।
3. मिट्टी के घड़े के गले में पवित्र धागा बांधे
4. अब कलश को मिट्टी और अनाज के बीज की एक परत से भरें।
5. कलश में पवित्र जल भरकर उसमें सुपारी, गंध, अक्षत, दूर्वा घास और सिक्के डालें।
6. कलश के मुख पर एक नारियल रखें।
7. कलश को आम के पत्तों से सजाएं।
8. मंत्रों का जाप करें।
9. कलश को फूल, फल, धूप और दीया अर्पित करें।
10. देवी महात्म्यम का पाठ करें।

यह भी पढ़ें  ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के नियम में हुआ बड़ा बदलाव, अब करना होगा ये काम