शारदीय नवरात्रि 2021: मां दुर्गा के आगमन और प्रस्थान की ये हैं सवारी, नोट कर लें घटस्थापना विधि और समय

हिन्दू धर्म में दुर्गा पूजा बहुत ही महतवपूर्ण है | खास कर यह महोत्सव पुरे देश भर में लोग बहुत धूम धाम से मनाते है | हिंदू धर्म में मां दुर्गा को शक्ति का प्रतीक माना गया है | इस साल दुर्गा पूजा की शुरुआत 07 अक्टूबर 2021 से आरंभ होगा है | 15 अक्टूबर 2021 को समाप्त होगा | आईये जानते है 2021 की टाइम डेट और शुभ मुहूर्त शारदीय नवरात्रि का आरंभ आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से हो जाता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस साल मां दुर्गा का आगमन पालकी (डोली) पर हो रहा है। वहीं माता रानी का प्रस्थान हाथी पर हो रहा है। जानिए कलश स्थापना का शुभ समय-

यह भी पढ़ें  हेलमेट पहने होने के बावजूद कटेगा 2000 रुपए का चालान, देखें नया नियम

शारदीय नवरात्रि 2021 घट स्थापना मुहूर्त-

शारदीय नवरात्रि में पहले दिन घटस्थापना की जाती है। इसे कलश स्थापना भी कहते हैं।  इस दौरान नौ दिनों तक व्रत का संकल्प लिया जाता है। कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त 7 अक्टूबर को सुबह 06 बजकर 17 मिनट से सुबह 07 बजकर 07 मिनट तक है। घटस्थापना का अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 45 मिनट से दोपहर 12 बजकर 32 मिनट तक है। कलश स्थापना निषिद्ध चित्रा नक्षत्र के दौरान की जाएगी।

घटस्थापना कैसे करें-

1. नवरात्रि के पहले दिन सुबह जल्दी उठकर नहाएं।
2. स्वच्छ वस्त्र धारण करने के बाद कलश को पूजा घर में रखें।
3. मिट्टी के घड़े के गले में पवित्र धागा बांधे
4. अब कलश को मिट्टी और अनाज के बीज की एक परत से भरें।
5. कलश में पवित्र जल भरकर उसमें सुपारी, गंध, अक्षत, दूर्वा घास और सिक्के डालें।
6. कलश के मुख पर एक नारियल रखें।
7. कलश को आम के पत्तों से सजाएं।
8. मंत्रों का जाप करें।
9. कलश को फूल, फल, धूप और दीया अर्पित करें।
10. देवी महात्म्यम का पाठ करें।

यह भी पढ़ें  आज से दरभंगा-अजमेर स्पेशल ट्रेन की परिचालन शुरू, आगरा और मथुरा होते हुए जायएगी ट्रेन..