वेंकटेश अय्यर की माता इन्हें शुरू से ही पढने ज्यदा खेलने पर देती थी ध्यान

कोलकाता नाइटराइडर्स के वेंकटेश अय्यर आईपीएल (IPL 2021) सेकंड लेग के सबसे चर्चित खिलाड़ियों में से एक ऐसा बल्लेबाज, जिसने आते ही सबको अपनी बल्लेबाजी का मुरीद कर दिया है. अय्यर ने आईपीएल (IPL) के अपने दूसरे ही मैच में पचास (half century) जड़ सबको अपनी काबिलियत का जलवा दिखा दिया है |

पुरे भारत {india} ही नहीं विदेश के लोग भी वेंकटेश अय्यर की तारीफ कर रहा है और साथ ही लोगों में उनके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने की उत्सुकता भी है | ऐसे में हमने सोचा कि क्यों ना आपको इस नई सनसनी के बारे में बताया जाए. तो चलिए, शुरू करते हैं मध्य प्रदेश के लिए रणजी खेलने वाले इस लड़के की कहानी, जो आजकल कोलकाता में छाया है | और अपना जलवा दिखाकर सबको अपनी ओर आकर्षित कर रहा है |

यह भी पढ़ें  भुवनेश्वर कुमार ने फेंकी 208 KMPH की रफ्तार से गेंद! जाने क्या टूट गया अख्तर का रिकॉर्ड?

वेंकटेश का मध्य प्रदेश (madhay pradesh) के इंदौर शहर के रहने वाले है | वेंकटेश के पिता मानव संसाधन सलाहकार यानी ह्यूमन रिसोर्स कंसलटेंट हैं. और मां ने कई साल तक अस्पताल प्रबंधन में काम किया है. वेंकटेश एक साउथ इंडियन परिवार से आते हैं. लेकिन उनका परिवार एक स्टीरियोटाइप वाले साउथ इंडियन परिवार से बिलकुल हटकर था. वेंकी के परिवार ने उन्हें पढ़ाई से ज्यादा खेल पर ध्यान देने के लिए प्रोत्साहित किया | और जिसका नतीजा ये हुआ की आज वो अपनी काबिलियत से पुरे विशव को अपने ओर आकर्षित कर रहे है |

लेकिन अब तक उनका मन क्रिकेट में भी लगने लगा था. और अब उन्हें मिलने वाला सपोर्ट भी घर से निकलकर कॉलेज तक आ गया था. कॉलेज के मैनेजमेंट ने उन्हें अटेंडेंस वगैरह के लोड से पूरी तरह दूर रखा. लेकिन दुनिया जानती है कि भारत में क्रिकेट में करियर बनाना आसान नहीं है. ऐसे में अय्यर ने पढ़ाई का दामन भी पकड़कर रखा. और साल 2018 में एक अकाउंटिंग फर्म ने उन्हें जॉब ऑफर की. अब अय्यर को शायद आखिरी बार पढ़ाई और खेल में से किसी एक को चुनना था और उन्होंने क्रिकेट को चुना और आज वो एक अच्छे मुकाम तक पंहुच गए है |

यह भी पढ़ें  बिहार के लाल ईशान किशन भारत के नंबर-1 टी20 बल्लेबाज बने, 68 पायदान ऊपर चढ़े, कोहली टॉप-20 से भी बाहर

रणजी प्रदर्शन के दम पर KKR ने अय्यर को IPL 2021 के लिए अपनी टीम में शामिल कर लिया. हालांकि फर्स्ट लेग में उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला | लेकिन जैसे ही IPL2021 का दूसरा लेग आया, अय्यर की किस्मत ने करवट ली. और 20 सितम्बर 2021 को फाइनली उन्हें IPL डेब्यू करने का मौका मिला. मुक़ाबला था रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम से. अपने पहले ही मैच में अय्यर ने एक छक्के और सात चौकों की मदद से 27 गेंद पर 41 रन की नाबाद पारी खेली और सबको अपने हुनर से वाक़िफ करा दिया | बता दे की आप जिस समय शुरुआत का मैच खेल रहे है तो आपके लिए अच्छे स्कोर (score) करना मुस्किल होता है |

यह भी पढ़ें  क्रिकेट में 15 साल पूरे करते ही Rohit Sharma ने दिया भावुक बयान, सुनकर आंखों में आएंगे आंसू