बिहार में बाढ़ ने दिया मछुआरों को उपहार, कोसी नदी में मिला 35KG का भाकुर माछ, दाम 14000

पड़ोसी देश नेपाल से निकली कोशी नदी अपने आगोश में सिर्फ बालू, गाद या फिर पानी ही नहीं बहुत ऐसे चीज़ें भी लाती है जो कौतूहल का विषय बनता है। इसमें जीव जंतुओं से लेकर खानें योग्य स्वादिष्ट मछली भी शामिल है। ताज़ा कौतूहल का विषय बना सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर स्थित मछली बाजार में कोशी नदी की उपधारा में मिला वजनी कतला (भाकुर) मछली बना।

आम तौर पर आप दो से चार किलो की एक मछलियों को जरूर देखे होंगे लेकिन जरा सोचिए अगर एक मछली इसके दस गुने ज्यादा वजन का हो तो फिर आप क्‍या कहेंगे ऐसी ही दस गुने वजन वाली एक मछली जब सिमरी बख्तियारपुर मछली बाजार में मछुवारों द्वारा बेचने को लाई गई तो लोगों के लिए यह कौतूहल का विषय बन गया। मछली को देखने लोगों की भीड़ जुट गई।

यह भी पढ़ें  बिहार से इन दो राज्यों के लिए चलेंगी 180 नयी बसें, 56 रूटों पर परमिट के लिए मांगे गये आवेदन

वहां के मछुआरों ने इस मछली को सिमरी बख्तियारपुर के बाजार में मछली बेचने वाले के हाथों बिक्री कर दिया। यह मछली कतला प्रजाति की बताई जा रही है। मार्केट में आने के बाद इसका रे ट चार सौ रुपये किलो तय किया गया है। हालांकि रविवार को पुरे मछली का खरीददार नहीं मिलने से मछली काट बिक्री नहीं किया जा सका। अनुमान लगाया जा रहा है कि सोमवार को मछली काट कर बिक्री की जाएगी।