बिहार में नेशनल हाईवे की तीन बड़ी सड़क की परियोजनाएं इसी माह पूरी होंगी

सड़क की तीन अहम परियोजनाएं इसी महीने पूरी होंगी। पटना, नालंदा, शेखपुरा, मुजफ्फरपुर व सीतामढ़ी जिले की इन सड़क परियोजनाओं का काम लगभग पूरा हो चुका है। इन सड़कों के पूरा होने से पटना सहित चारों शहरों में जाम की समस्या समाप्त हो जाएगी।

न केवल इस इलाके के लोगों को बल्कि बिहार से झारखंड जाने में भी सुविधा होगी। पूरी होने वाली ये तीनों सड़क परियोजनाएं नेशनल हाईवे की हैं। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से इसका निर्माण कार्य चल रहा है। 

बख्तियारपुर से झारखंड के शहरों में जाना आसान
पटना जिले में पूरी होने वाली सड़क परियोजना में पटना से बख्तियारपुर चार लेन सड़क है। पटना से बख्तियारपुर के मौजूदा बाईपास को छोड़ दें तो पहले इसी रोड से लोगों का आना-जाना होता था। खासकर बिहार से झारखंड जाने वाली बसें इसी रोड से जाती थीं। इसके बनने से एक बार फिर बख्तियारपुर होकर रांची, जमशेदपुर सहित झारखंड के अन्य शहरों में लोग आ-जा सकते हैं। एनएच 30 कही जाने वाली पटना से बख्तियारपुर चार लेन सड़क का निर्माण बिहार सरकार के अनुरोध पर ही एनएचएआई ने किया है। इस सड़क की कुल लंबाई 50.56 किमी है। इसके निर्माण पर 574 करोड़ का खर्च हुआ है। 

यह भी पढ़ें  भागलपुर में फैलेगा एनएच का जाल, अगले पांच साल में दोगुनी होगी सड़कों की लंबाई

पटना, नालंदा और शेखपुरा जिले को ज्यादा फायदा
इसी महीने पूरी होने वाली एनएच की दूसरी सड़क परियोजना बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा है। एनएच 82 की यह सड़क दो लेन की है। 54.76 किलोमीटर लंबी इस सड़क को बनाने में 297.27 करोड़ रुपए का खर्च आया है। इसके पूरा होने से पटना, नालंदा व शेखपुरा जिले को सीधा लाभ होगा।

महेशखूंट-सहरसा-पूर्णिया समेत कई सड़क परियोजनाएं अगले साल भी पूरी होंगी
एनएचएआई के अधिकारियों ने कहा कि बिहार की कई सड़क परियोजनाएं अगले साल भी पूरी होंगी। अगले साल पूरी होने वाली सड़क परियोजनाओं में महेशखूंट-सहरसा-पूर्णिया है। साथ ही एनएच 30 का बाकी हिस्सा बख्तियारपुर से मोकामा का काम पूरा हो जाएगा। जबकि सिमरिया-खगड़िया, मझौली-चरौत व फारबिसगंज-जोगबनी सड़क परियोजना का काम भी पूरा होगा। वहीं, गंगा नदी पर मुंगेर के रेल सह सड़क पुल का एप्रोच रोड अभी बन रहा है। तीसरी अहम सड़क मुजफ्फरपुर-सोनबरसा सड़क है। एनएच 77 कही जाने वाली यह सड़क दो लेन की है। 82.697 किलोमीटर लंबी इस सड़क को बनाने में 512 करोड का खर्च आया है। इसके बन जाने से मुजफ्फरपुर व सीतामढ़ी के साथ ही दूसरे जिले के लोगों को इस ओर आने-जाने में सुविधा होगी।

यह भी पढ़ें  Bihar School Opening: इस दिन से खुल रहे बिहार के सरकारी स्‍कूल, पटना में सवा चार घंटे ही होगी पढ़ाई

ये है राज्य की तीन बड़ी सड़क परियोजना

पटना से बख्तियारपुर : 50.56 किमी
बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा : 54.76 किमी
मुजफ्फरपुर-सोनबरसा : लंबाई : 82.69 किमी