अब सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट नल-जल योजना की होगी ऑनलाइन मॉनिटरिंग

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय में शामिल नल का जल योजना की मॉनिटरिंग अब ऑनलाइन की जाएगी। इसको लेकर जिले के सभी प्रखंडों के वार्डों में आरंभ किए गए नल जल योजना को लेकर किए गए बोरिंग के समीप जल्द ही आइओटी डिवाइस (दी इंटरनेट ऑफ थिग्स) डिवाइस लगाए जाएंगे। अभी 1604 वार्डों में डिवाइस लगाया गया है। शेष बचे अन्य वार्डों में भी डिवाइस लगाने का कार्य शीघ्र पूरा कर लेने का टास्क दिया गया है।

जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवरे ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों के साथ नल-जल योजना पार्ट दो के सफल संचालन के लिये आईओटी डिवाइस डैशबोर्ड को ले शनिवार को विस्तार से चर्चा की। जिलाधिकारी ने नयी तकनीक के माध्यम से वार्डों में चल रही नल-जल की योजनाओं का पर्यवेक्षण कैसे हो इसपर भी जोर दिया। संबंधित प्र्त्रिरयाओं की जानकारी दी गयी तथा प्रतिदिन सुबह एवं शाम को डैशबोर्ड के माध्यम से अपने वार्डों में संचालित नल-जल योजना का पर्यवेक्षण करते हुए बंद पड़ी योजनाओं को तुरंत प्रारम्भ करने के लिये आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। बैठक में जिला पंचायती राज पदाधिकारी राजू कुमार ने डीएम को अपडेट जानकारी दी।

यह भी पढ़ें  NDA में जारी रार व नीतीश-तेजस्वी की नजदीकियों के बीच लालू पहुंचे पटना, बड़ा सवाल- क्या ‘खेला’ होगा?

डिवाइस से पानी सप्लाई की अपडेट जानकारी मिलेगी
इसका लाभ लोगों को शत प्रतिशत मिल रहा है या नहीं, इसका पता आइओटी डिवाइस के माध्यम से आसानी से लग जाएगा। वार्डों में किए गए बोरिंग से पानी की सप्लाई हो रही है या नहीं, अगर हो रहा है तो कितनी पानी की खपत हो रही है। अगर पानी सप्लाई बंद है तो इसकी जानकारी भी विभाग को इस डिवाइस के माध्यम से आसानी से पता चल जाएगा। जिसे जल्द से जल्द शुरू कराया जाएगा।

विभाग के कर्मी द्वारा सभी नल जल के बोरबेल के पास आइओटी डिवाइस लगाया जा रहा है।डिवाइस के माध्यम से ऑनलाइन मिलने वाले सिग्नल से योजना की मॉनिटरिंग की जाएगी। सरकार की राशि का समुचित सदुपयोग हो, इसको लेकर विभाग में सभी वार्डों में डिवाइस रहा है। ताकि, हर स्तर पर इसकी निगरानी हो सके। सारण में कुल 4580 वार्ड है।

यह भी पढ़ें  बिहार के यात्रियों को अब बस स्टैंड पर भी मिलेगी विश्वस्तरीय एयरपोर्ट जैसी सुविधा !