अगले 48 घंटे बिहार में भारी बारिश का अलर्ट, दूरसंचार, यातायात और बिजली सेवा बाधित होने की आशंका

बिहर में मॉनसून की अति सक्रियता अब संकट में तब्दील होती जा रही है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, पटना ने आगामी 48 घंटे में पूरे बिहार विशेषकर उत्तर बिहार में भारी बारिश का अनुमान जारी किया है. शेष बिहार में मध्यम से भारी बारिश का अनुमान है.

आइएमडी ने चेतावनी दी है कि इस दौरान जान-माल का नुकसान भी हो सकता है. निचले इलाके में जलजमाव, यातायात, दूरसंचार और बिजली सेवा भी बाधित होने की आशंका है. नदियों में उफान आने से उनके जल स्तर में भी अप्रत्याशित बढ़ोतरी की आशंका है.

आइएमडी की रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में मॉनसून को और अधिक प्रचंड रूप में बदलने के लिए तीन विशेष मौसमी बदलाव जिम्मेदार हैं. उत्तर-पश्चिमी झारखंड और उससे सटे बिहार के इलाके में निम्न दाब का केंद्र बना हुआ है.

यह भी पढ़ें  बिहार के इन जिलों में सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, जानें अपने शहर का रेट

पूर्वी उत्तर प्रदेश और उससे सटे बिहार के इलाके में भी चक्रवात दबाव बनाये हुए है. इसके अलावा एक ट्रफलाइन भी बिहार से होकर गुजर रही है. खासतौर पर पश्चिमी बिहार में रेड अलर्ट जारी किया गया है.

मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि तेज गर्जना के साथ वज्रपात भी संभव है. लिहाजा, बिजली चमकते ही पक्के मकान की शरण लेना उचित होगा. किसी भी कीमत पर कच्चे मकान और पेड़ की ओट में खड़ा रहना खतरनाक हो सकता है.

बिहार में अब तक सामान्य से 92% अधिक बारिश

मंगलवार को पूरे बिहार में अच्छी-खासी बारिश दर्ज की गयी है रामनगर व चनपटिया में 280 मिलीमीटर, बगहा में 210 मिलीमीटर, गौनाहा में 160 मिलीमीटर और केसरिया में 130 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी है. चनपटिया और रामनगर में 24 घंटे में हुई यह अब तक की रिकार्ड बारिश है.

यह भी पढ़ें  उत्तर बिहार के इन चार जिलों में है भारी बारिश का अलर्ट, पटना को लेकर है ये अपडेट