200 वॉट का मोबाइल चार्जर:शाओमी के इस चार्जर से आपको फोन कितना सुरक्षित, यूजर्स के ऐसे सवालों के कंपनी ने दिए जवाब

शाओमी ने बीते दिनों अपने प्रीमियम स्मार्टफोन्स के लिए हाइपरचार्ज फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी को लॉन्च किया था। उसका दावा है कि इस टेक्नोलॉजी मदद से 4,000mAh की बैटरी वाला स्मार्टफोन महज 8 मिनट में फुल चार्ज हो जाएगा। हालांकि, इस चार्जिंग टेक्नोलॉजी पर कुछ यूजर्स ने सवाल खड़े किए थे। इनमें कुछ सवाल स्मार्टफोन की सेफ्टी से जुड़े भी थे। ऐसे में अब कंपनी ने उन सभी सवालों के जवाब दिए हैं।

800 बार चार्ज करने पर भी 80% बैटरी लाइफ बची रहेगी
स्मार्टफोन्स की सेफ्टी को लेकर पूछे गए इस सवाल के जवाब में कंपनी ने कन्फर्म किया कि यह टेक्नोलॉजी पूरी तरह सेफ है और इसे काफी रिसर्च के बाद लाया गया है। नई चार्जिंग टेक्नॉलजी के लिए 40 से ज्यादा सेफ्टी और बचाव से जुड़े कदम उठाए गए हैं। शाओमी से फोन की बैटरी और 200 वॉट चार्जिंग टेक्नोलॉजी की सेफ्टी से जुड़े सवाल पर कहा कि 800 बार चार्ज करने के बाद भी फोन की बैटरी लाइफ 80% तक बची रहती है। यह इंडस्ट्री स्टैंडर्ड से काफी ऊपर है।

यह भी पढ़ें  बिहार की बेटी को Google ने दिया करोड़ों के पैकेज का ऑफर, ऐसे हासिल किया यह मुकाम

8 मिनट में फुल चार्ज होगी 4000mAh बैटरी
हाइपरचार्ज फास्ट चार्जिंग टेक्नोलॉजी से की मदद से 4000mAh बैटरी वाला स्मार्टफोन केवल तीन मिनट में 50 प्रतिशत और 8 मिनट में फुल चार्ज हो जाएगा। इसी तरह 120 वॉट की वायरलेस चार्जिंग 4000mAh बैटरी को एक मिनट में 10 प्रतिशत और 7 मिनट में 50 प्रतिशत तक चार्ज कर देती है। वहीं, 120 वॉट वायरलेस चार्जिंग से बैटरी को फुल चार्ज होने में 15 मिनट का समय लगा।