12 साल बाद समय से पहले बिहार पहुंचा मॉनसून, अगले 3-4 दिनों तक बरसेंगे बादल, बारिश और वज्रपात को लेकर येलो अलर्ट जारी

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने 12 सालों के बाद सूबे में समय से पहले दस्तक दे दी है। शनिवार को बागडोगरा से चलकर धनबाद होते हुए बिहार में मॉनसून करंट ने पूर्णिया के रास्ते प्रवेश किया। कुछ ही घंटों में इसका प्रसार दरभंगा तक हो गया। फलस्वरूप सूबे में शनिवार को सुबह से ही झमाझम बारिश होती रही और मौसम सुहाना हो गया। 

रविवार को यह पटना सहित राज्य के शेष हिस्सों तक प्रसार पा जाएगा। सूबे में अगले तीन चार दिनों तक हल्की से मध्यम बारिश और वज्रपात का येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि बिहार में मॉनसून के प्रवेश का मानक समय 13 जून है।

यह भी पढ़ें  Scholarship Scheme 2022 : बिहार के दो लाख आईटीआई छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति

इस बार समय से एक दिन पूर्व मॉनसून सूबे में पहुंचा है। इससे पहले आठ जून 2008 को समय से पांच दिन पहले मॉनसून ने सूबे में दस्तक दी थी जो पिछले 15 सालों में सबसे बेहतर रिकॉर्ड है।

पिछले 24 घंटों में हुई एक-दो जगहों पर भारी बारिश
शनिवार को पटना, वैशाली, सारण, भोजपुर, रोहतास, खगड़िया, बेगूसराय, बक्सर, भभुआ, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, गया, नालंदा और जहानाबाद में रिमझिम बारिश होती रही। पश्चिम चंपारण में बारिश की तीव्रता कुछ अधिक रही। इस दौरान 30 से 40 किमी की हवा भर चलती रही।