Anmol

एक महिला इस्तेमाल करती थी पुरुषों का टॉयलेट, अपनी बेटी की जीवन सुधारने के लिए बनी औरत से मर्द

कहते हैं ना सबसे बड़ा योद्धा मां होती है, मां अपने बच्चों की खुशी के लिए असंभव को भी संभव कर देती है . मां अपने बच्चों के लिए अपनी खुशी तक कुर्बान कर देती है. ऐसे ही एक कहानी तमिलनाडु से सामने आई है, एक मां बेटी के लिए स्त्री से पुरुष बन गई. …

एक महिला इस्तेमाल करती थी पुरुषों का टॉयलेट, अपनी बेटी की जीवन सुधारने के लिए बनी औरत से मर्द Read More »

पिता नहीं हैं, मां ने मज़दूरी कर पढ़ाया, झुग्गी – झोपडी में पली बढ़ी ये लड़की ने इतिहास रच दिया है, जानिए.

सच्ची लगन और आत्मनिर्भरता से इंसान हर मुकाम को हासिल कर सकता है. ऐसा ही कुछ कर दिखाया है, ओडिशा की दयमंती माझी ने. छोटी सी उम्र में उसने डिप्टी मेयर बनकर इतिहास रच दिया है. अपने लड़कपन के उम्र में दमयंती माझी ने बड़ो – बड़ो को प्रेरणा देते हुए अपना नाम समाज में …

पिता नहीं हैं, मां ने मज़दूरी कर पढ़ाया, झुग्गी – झोपडी में पली बढ़ी ये लड़की ने इतिहास रच दिया है, जानिए. Read More »

पति और दो बेटों चले गए, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू कई दुःख के दिन देखे, राष्ट्रपति ने बनाए कई रिकॉर्ड

आज हम बात कर रहे हैं भारत के 15वीं राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में. द्रौपदी मुर्मू देश की दूसरी और पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति बन गई हैं. इनके जीवन में काफी मुसीबतें आई है, लेकिन उन्होंने लोगो की सेवा करना नहीं छोडी. उनकी कठिनाइयों से भड़ी राजनितिक सफ़र रंग लाई और आखिरकार भारत की …

पति और दो बेटों चले गए, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू कई दुःख के दिन देखे, राष्ट्रपति ने बनाए कई रिकॉर्ड Read More »

इंजीनियरिंग करते हुए सेना जॉइन करने की प्रेरणा मिली, इंजीनियर बन गई लेफ्टिनेंट, पिता को बेटी पर गर्व

मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता है, हौसलों से उड़ान होती है. ऐसे ही कहानी वंशिका पांडे (Vanshika Pandey) की है. इन्होने B.Tech छोड़कर बन गई छत्तीसगढ़ की पहली महिला लिफ्टनेट. Vanshika Pandey आज लड़कियों के लिए प्रेरणास्रोत बन गई है. हम बात कर रहे …

इंजीनियरिंग करते हुए सेना जॉइन करने की प्रेरणा मिली, इंजीनियर बन गई लेफ्टिनेंट, पिता को बेटी पर गर्व Read More »

होटल में करते थे वेटर का काम, वहीँ आया शानदार बिज़नस का idea, मेहनत के बदौलत अब लाखों कमाते है.

किसी के सहारे कामयाब बनने की जगह स्वयं के पैरों पर खड़ा होना है सीख लो तो भी बेहतर है. ऐसा ही कुछ योगेश महाजन ने साबित कर दिया. जो एक वेटर से अपना खुद का बिजनेस शुरू कर दिया आज कई लोगों को रोजगार दिए है. योगेश पहले वेटर का काम करता था. उसी …

होटल में करते थे वेटर का काम, वहीँ आया शानदार बिज़नस का idea, मेहनत के बदौलत अब लाखों कमाते है. Read More »

मुंबई की सड़कों पर बेचे बैग, धीरे-धीरे बढ़ाया अपनी कंपनी का कारोबार, आज है 250 करोड़ की कंपनी, जानिए

दुनिया में ऐसे ऐसे लोग हैं जो मेहनत और लगन से छोटे भी काम को बडा बना देते हैं. तुषार जैन उन्हीं में से एक है . जो कभी मुंबई के सड़कों पर बैग बेचते थे . आज 250 करोड़ रुपए की कंपनी के मालिक है. तुषार जैन को हमेशा से अपने काम के प्रति …

मुंबई की सड़कों पर बेचे बैग, धीरे-धीरे बढ़ाया अपनी कंपनी का कारोबार, आज है 250 करोड़ की कंपनी, जानिए Read More »

पिता का था बॉल बेरिंग की दुकान, D-Mart के मालिक ने 5000 से की थी शुरुआत, आज है दुनिया के 100 अमीरों में शामिल

12वीं पास D-Mart के मालिक राधाकिशन दमानी दुनिया के 100 अमीरो के लिस्ट में शामिल है. राधाकिशन दमानी का नाम है ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स में 98 नंबर पर है. राधाकिशन दमानी ने अपने मेहनत से 35 साल में अपनी कंपनी को 1.42 लाख करोड़ पहुंचा दिए है. राधाकिशन दमानी के पिता का नाम शिवकिशन दमानी …

पिता का था बॉल बेरिंग की दुकान, D-Mart के मालिक ने 5000 से की थी शुरुआत, आज है दुनिया के 100 अमीरों में शामिल Read More »

वाइल्डलाइफ़ फ़ोटोग्राफ़र ने अकेले के दम पर बंजर जमीन को बना दिया मिनी अमेज़न, रहते है दुर्लभ प्राणी

नामुमकिन कुछ भी नहीं है, अगर इंसान चाह ले तो वह अपने मेहनत और लगन से नामुमकिन काम को भी मुमकिन बना देते हैं. ऐसे ही जिला विजयनगर के कमलापुर के रहने वाले वाइल्डलाइफ़ फ़ोटोग्राफ़र पोम्पैया मालेमत ने साबित कर दिया है. कोई भी काम कठिन नहीं होता है, बस हमें अपने आप पर यकीन …

वाइल्डलाइफ़ फ़ोटोग्राफ़र ने अकेले के दम पर बंजर जमीन को बना दिया मिनी अमेज़न, रहते है दुर्लभ प्राणी Read More »

गरीबी ऐसी की सुबह 4 बजे उठकर अखबार बेचने जाता था, आया idea , बदली किस्मत, खड़ी कर दी MNC कंपनी

एक ऐसे युवा के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 4 महीने में 170 कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई किए. लेकिन नौकरी नहीं मिली. खुद को खर्चा उठाने के लिए रोज सुबह अखबार तक बेचना शुरू कर दिया. एक आईडिया आया और आज मल्टीनेशनल कंपनी की मालिक है. हम बात कर रहे हैं …

गरीबी ऐसी की सुबह 4 बजे उठकर अखबार बेचने जाता था, आया idea , बदली किस्मत, खड़ी कर दी MNC कंपनी Read More »

माँ गाँव-गाँव चूड़ी बेचती थी, माँ के पैर में पड़ गए छाले, बेटी को देखा न गया, जीतोड़ मेहनत की और बनी कलेक्टर

संघर्ष में आदमी अकेला होता है, परन्तु सफलता के बाद दुनिया साथ होती है. कुछ नहीं मिलता है, दुनिया में मेहनत के बगैर, कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है. ऐसे ही महाराष्ट्र का एक जिला है. इस जिले का नाम नांदेड है. यहां के छोटे से गांव में रहने वाली वसीमा शेख ने …

माँ गाँव-गाँव चूड़ी बेचती थी, माँ के पैर में पड़ गए छाले, बेटी को देखा न गया, जीतोड़ मेहनत की और बनी कलेक्टर Read More »